आंल इण्डिया ट्रेड यूनियन एवं  स्कीम वर्कर्स की संयुक्त बैठक हुई सम्पन्न 

आंल इण्डिया ट्रेड यूनियन एवं  स्कीम वर्कर्स की संयुक्त बैठक हुई सम्पन्न

शहाबुद्दीन अहमद

बेतिया शनिवार 1 अगस्त 20 : आंल इण्डिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस पं चम्पारण जिला कमिटी तथा स्कीम वर्कर्स की संयुक्त बैठक, बलिराम भवन कार्यालय में, गोदावरी देवी की अध्यक्षता में हुई। बैठक में सरकार के मजदूर विरोधी नीति एवं स्कीम वर्कर्स के प्रति भेदभाव की नीति के खिलाफ ७ एवं ८ अगस्त को हड़ताल करने एवं ९ अगस्त को जेल भरो अभियान चलाने के राष्ट्रव्यापी आंदोलन को सफल करने पर विचार किया गया। ७ एवं ८ अगस्त को सेविका सहायिका आशा रसोईया हड़ताल में रहेगी तथा ९ अगस्त को जेल भरो अभियान चला कर सरकार के नई मजदूर नीति सार्वजनिक उपक्रमों को बेचने के खिलाफ बैंकों के निजीकरण एवं कारपोरेट परस्त शिक्षा नीति का विरोध करने केन्द्रीय श्रम संगठन सड़कों पर उतर रहे हैं।
कोरोनावायरस काल में ,श्रमिकों की छंटनी पर रोक लगाने अतिरिक्त वेतन का भुगतान करने रोजगार के अवसरों में वृद्धि करने किसानों को राहत देने आदि मांगों को लेकर ९ अगस्त को जेलभरो अभियान चलाया जायेगा। १६ अगस्त से सेविका सहायिका अनिश्चित कालीन हड़ताल पर भी जाने की तैयारी कर रही है। विहार में कर्मचारियों को पच्चास बर्ष उम्र के बाद मूल्यांकन के आधार पर हटाने की सरकार के फैसले का सख्त विरोध किया जायेगा। केन्द्र और राज्य सरकार दोनों मजदूरों पर लगातार प्रहार कर रही है। ट्रेड यूनियन सरकार के मजदूर विरोधी रवैया के खिलाफ लगातार संघर्ष कर रहा है और आगे भी संघर्ष जारी रहेगा। अभी तक क्वरेन्टाइन सेन्टर पर खाना बना कर खिलाने वाली रसोईया का भुगतान नहीं हो सका। आंल इण्डिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस एवं सभी स्कीम वर्कर्स संयुक्त रुप से सरकार के मजदूर विरोधी नीति के खिलाफ आंदोलन करने के लिए वाद्य है।मौके पर एटक नेता ओमप्रकाश क्रान्ति ,बब्लू दूबे, आंगनबाड़ी सेविका सहायिका संघ के ,अजय वर्मा ,प्रमिला देवी, शिवजी महतो, आशा संघ के ,परशुराम ठाकुर, ध्रुव शास्त्री, रसोईया संघ के लाल बाबू राम, शंभू नाथ मिश्र आदि उपस्थित रहे।

Next Post

चीनी मिल एरिया को कंटेंटमेंट जोन घोषित करने की मांग 

Sun Aug 2 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it चीनी मिल एरिया को कंटेंटमेंट जोन घोषित करने की मांग  रविशंकर मिश्रा सुगौली […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links