टीकाकरण हेतु घर की चौखट से बाहर महिलाओं का निकलना शुरू कुल 9 लाख टीकाकरण

टीकाकरण हेतु घर की चौखट से बाहर महिलाओं का निकलना शुरू कुल 9 लाख टीकाकरण

सत्येन्द्र कुमार शर्मा, सारण:
महिलाएं घर की दहलीज पार कर टीकाकरण केंद्रों पर पहुंचना शुरू कर दी हैं।कुल 3.95 लाख महिलाओं ने कोरोना का टीकाकरण कराया।कोविड टीकाकरण अभियान में महिलाओं की सहभागिता अति महत्वपूर्ण मान रहे हैं छपरा सिविल सर्जन।
अब तक कुल 8.75 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा सका है।
जिले में वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के लिए जिले में व्यापक स्तर पर टीकाकरण अभियान चल रहा है। इस टीकाकरण अभियान में महिलाओं की सहभागिता को सुनिश्चित करने को लेकर विभाग चिंतित है। लेकिन अब टीकाकरण को लेकर महिलाओं में भी काफी जागरूकता देखने को मिल रही है। ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में घूंघट ओढ़ घर की दहलीज पार कर काफी संख्या में महिलाएं टीकाकरण केंद्रों पर पहुंच कर टीका ले रही है। इसके साथ एक दूसरे को जागरूक भी कर रही है।
महिलाएं अब पुरुषों से पीछे नहीं:
सदर अस्पताल के टीकाकरण केंद्र पर टीका लेने आयी शहर के दहियांवा, साहेबगंज, भगवान बाजार, आर्य नगर, नई बाजार मुहल्ला की रहने वाली महिला कांती देवी, सुलेखा देवी, अमृता देवी, सुषमा देवी का कहना है कि टीकाकरण को लेकर वे सभी काफी उत्साहित है. सभी ने टीका लिया। महिलाओं का कहना है कि उनलोगों को घरेलू काम भी होता है। जिससे टीकाकरण केंद्रों पर आने के लिए सोचना पड़ता है। लेकिन हम महिलाएं अब पुरूषों से पीछे नहीं है। आज हम सभी ने टीका लिया है और टीकाकरण के प्रति अपने पड़ोसियों व सहेलियों को जागरूक करेंगे ताकि अधिक से अधिक महिलाएं इस अभियान में शामिल होकर टीकाकरण कराएं।

घर-घर में हो रही है टीकाकरण पर चर्चा:

अब तो हर घर में महिलाएं यही चर्चा करती दिख रही है कि आज वैक्सीन लेने जाना है। पड़ोसी में अनुष्का की माँ और दादी जी भी आज जा रही है। ऐसी चर्चा लगातार हो रही है और गांव के महिलाएं झुंड बनाकर टीकाकरण केंद्रों पर जा रही है। एक उत्सव के रूप में देखने को मिल रहा है। टीकाकरण केंद्रों काफी संख्या में महिलाओं की भीड़ जुट रही है।

टीका को लेकर लोगों में अब काफी जागरूकता:

टीकाकरण में अधिक से अधिक महिलाओं की सहभागिता को लेकर सिविल सर्जन डॉ. जेपी सुकुमार ने कहा कि जिले में सभी टीकाकरण केंद्रों पर लोगों की भीड़ देखी जा रही है। इससे यह प्रतीत होता है कि टीका को लेकर लोगों में अब काफी जागरूकता आ गई है । उन्होंने कहा कि लोग अब स्वयं टीका को लेकर केंद्रों तक पहुंच रहे हैं। महिलाओं का शत- फीसद टीकाकरण को लेकर उन्हें जागरूक किया जा रहा है। टीकाकरण को लेकर जो भी जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं उसमें महिलाओं को अधिक प्राथमिकता दी जा रही है। साथ ही साथ घर के मुखिया को भी जागरूक कर महिलाओं को टीका लेने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

3.95 लाख महिलाओं ने लिया कोरोना का टीका:
जिले में अगर महिलाओं के टीकाकरण के आंकड़ों की बात करें तो वह पुरूषों से थोड़ा पिछे हैं। जिले में कोविन पोर्टल के अनुसार 19 जुलाई तक 3 लाख 95 हजार 139 महिलाओं का टीकाकरण हुआ है। अगर पुरूषों की बात करें तो 4 लाख 80 हजार 32 लाभार्थियों को कोविड का टीका दिया जा चुका है। जिले में अब तक कुल 8 लाख 75 हजार 356 लाभार्थियों का टीकाकरण हो चुका है। वहीं प्रतिदिन 20 से 25 हजार लाभार्थियों का टीकाकरण किया जा रहा है।

टीकाकरण मजबूत हथियार:

जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम अरविन्द कुमार ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण मजबूत हथियार है। उन्होंने 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों से कोरोना का टीका लेने की अपील की। उन्होंने कहा कि टीका को लेकर कई तरह की भ्रांतियां फैलाई जा रही है। कोरोना का टीका पूरी तरह सुरक्षित है। लोगों को बेहिचक टीका लगाना चाहिए।

Next Post

डायलिसिस सेवा कोरोना मरीजों के लिए संजीवनी साबित

Wed Jul 21 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it डायलिसिस सेवा कोरोना मरीजों के लिए संजीवनी साबित सत्येन्द्र कुमार शर्मा, सारण: कोरोना […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links