नदी में डूबने से मृत व्यक्तियो के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से अनुदान की स्वीकृति

नदी में डूबने से मृत व्यक्तियो के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से अनुदान की स्वीकृति

 

मोतिहारी।पु.च
जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक द्वारा जिले भर में सड़क दुर्घटना व नदी में डूबने से मृत व्यक्तियो के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष (आपदा प्रबंधन) से अनुदान की स्वीकृति दी गई है। यह राशि आरटीजीएस के माध्यम से एक सप्ताह के अंदर मृतकों के आश्रितों के बैंक खातों में जाएगा। विदित हो कि आपदा प्रबंधन के तरफ से सड़क दुर्घटना में मृतकों एवं बाढ़ में डूबने से मृतक के परिजनों को 4 लाख रुपया की राशि देने का प्रावधान है।मृतक का नाम एवं पता जिनके परिजन को मुआवजा भुगतान किया जाएगा।रूपकली कुमारी , पता – सरेया टोला , अंचल – मोतिहारी
(पानी में डूबने से मृत्यु ) विनय साह ,पता – परसौनी कपूर , अंचल – पताही( पानी में डूबने से मृत्यु) राजू साह , पता – परसौनी कपूर , अंचल – पताही (पानी में डूबने से मृत्यु )निधि कुमारी ,पता – मूर्तियां , अंचल – आदापुर ।
(पानी में डूबने से मृत्यु )लक्ष्मी देवी ,पता- लोकनाथपुर , अंचल – मोतिहारी( पानी में डूबने से मृत्यु ) अंगीता कुमारी , पता – कलवारी दुबहा , अंचल – आदापुर। ( पानी में डूबने से मृत्यु )फूलमती कुमारी , पता – राजपुर , अंचल कल्याणपुर ।( पानी में डूबने से मृत्यु )धुरेंद्र प्रसाद यादव ,पता – चैनपुर सुनरा टोल , अंचल – आदापुर।धीरज कुमार , पता – शंकर सरैया , अंचल – तुरकौलिया ।( पानी में डूबने से मृत्यु ) खुशी कुमारी , पता – कटकुईया , अंचल – चिरैया ।( पानी में डूबने से मृत्यु )समीर आलम , पता- बहुआरी ,अंचल – रामगढ़वा ।( पानी में डूबने से मृत्यु )दशरथ कुमार , पता – कृष्णा नगर , अंचल – मोतिहारी।( पानी में डूबने से मृत्यु )13 -रामपुकार , पता – भेलानारी , अंचल – अरेराज ।(सड़क दुर्घटना से मृत्यु) शिव सहनी , पता – सपही , अंचल – तुरकौलिया,(सडक दुर्घटना से मृत्यु)रामजन्म सहनी , पता – बरदाहा , अंचल – मोतिहारी ।( पानी में डूबने से मृत्यु )

Next Post

क्षेत्रीय विकास परिषद मोतिहारी एवं चकिया की संयुक्त समीक्षा बैठक आयोजित

Thu Jul 22 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it क्षेत्रीय विकास परिषद मोतिहारी एवं चकिया की संयुक्त समीक्षा बैठक आयोजित मोतिहारी।पु.च जिलाधिकारी […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links