बगहा: कटावरोधी वाले क्षेत्रो में गंडक नदी के बांधो की पूर्ण हुई मरम्मती कार्य ,मुख्यमंत्री कर सकते हैं संभावित निरीक्षण

बगहा: कटावरोधी वाले क्षेत्रो में गंडक नदी के बांधो की पूर्ण हुई मरम्मती कार्य ,मुख्यमंत्री कर सकते हैं संभावित निरीक्षण

दिवाकर कुमार

बगहा(26/06/2020):-गंडक नदी के किनारे कई संवेदनशील कटावरोधी क्षेत्रों पर एंटी ईरोजन कार्य पूर्ण कर लिया गया है। साथ ही किसी भी तरह के संभावित कटाव से निपटने के लिए जल संसाधन विभाग की तरफ से तैयारियां दुरस्त कर ली गई हैं।ऐसी संभावना जताई जा रही है कि मुख्यमंत्री अपने बगहा-वाल्मीकिनगर दौरे के दौरान इन इलाकों में हुए कार्यों का निरीक्षण करेंगे।गंडक नदी की त्रासदी से बगहा के दर्जनों इलाकों में कटाव का खतरा प्रत्येक साल देखने को मिलता हैं। इसी के मद्देनजर बाढ़ कटाव से बचाने के लिए गंडक नदी के किनारे के अतिसंवेदनशील कटाव ग्रस्त इलाकों खासकर मंगलपुर औसानी,कैलाशनगर,दुर्गा स्थान से दीनदयालनगर तक का कटावरोधी कार्य पूरा कर लिया गया है साथ ही कटाव के संभावित खतरों को देखते हुए जल संसाधन विभाग ने सारी तैयारियां पूरी कर ली है।गंडक नदी किनारे सबसे दबाव वाले प्वाइंट पर 700 मीटर तक फ्लड फाइटिंग का कार्य किया गया है।जल संसाधन विभाग के कनीय अभियंता एसके प्रभाकर ने जानकारी देते हुए बताया कि गंडक बराज से जब तीन लाख क्यूसेक से अधिक ज पानी छोड़े जाते हैं।ऐसे में मंगलपुर औसानी के कैलाशनगर एवं कुछ खास हिस्सों सहित दीनदयालनगर और निचले इलाके में ज्यादा दबाव पड़ता हैं। जिससे कटाव का खतरा बढ़ जाता है।ऐसे में कटावरोधी कार्य पूर्ण कर लिए जाने के बाद कटाव का खतरा टल गया है।बगहा के बारे में यह कहावत आम है कि यह इलाका लंबे समय से गन, गन्ना और गंडक की तबाही से जूझता रहा है।ऐसे में जल संसाधन विभाग की ओर से विगत कई वर्षों से कटावरोधी इलाके में बाढ़ सुरक्षात्मक कार्य कराए जा रहे थे। जो चार फेज में पूरा हुआ है। अभियंता ने बताया कि चार फेज के तहत कार्य की समाप्ति हुई है और अब कटाव का कोई खतरा नहीं हो सकता।कार्यकटाव की संभावना को देखते हुए सामग्री भंडारण किया गया।
बता दें कि अनुमंडल पदाधिकारी विशाल राज के नेतृत्व में काफी तेज गति से कटावरोधी कार्यों को अंजाम दिया गया है साथ ही जिला प्रशासन के आदेश पर गंडक नदी तट पर 24 घंटे गार्ड तैनात किए गए हैं और अभियंताओं की टीम लगातार निगरानी कर रही है।ऐसे में प्रशासन इस तैयारी में भी जुटा है कि यदि मुख्यमंत्री आते हैं तो सम्भावना है कि इन सारे कार्यों का औचक निरीक्षण भी करेंंगे ।

 

 

 

Next Post

65वीं वाहिनीं सशस्त्र सीमा बल ने अंतरराष्ट्रीय मद्य एवं अवैध तस्करी निषेध दिवस के अवसर पर किया वृक्षारोपण

Sat Jun 27 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it 65वीं वाहिनीं सशस्त्र सीमा बल ने अंतरराष्ट्रीय मद्य एवं अवैध तस्करी निषेध दिवस […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links