गुंजन को भाया बनारस तो कहा – विदेशों से ज्‍यादा खूबसूरत प्‍लेस भारत में

गुंजन को भाया बनारस तो कहा – विदेशों से ज्‍यादा खूबसूरत प्‍लेस भारत में

प्रमोद कुमार

भोजपुरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री की ड्रीम गर्ल गुंजन पंत को बनारस कुछ ज्‍यादा ही पसंद आ गया है, तभी तो वे हमेशा अपने बनारस के प्रोजेक्‍ट को लेकर एक्‍साइटेड रहते हैं। गुंजन ने अभी बनारस में अपने तीन – तीन गानों की शूटिंग कंप्‍लीट की है, जो आने वाले दिनों रिलीज होंगे। इन गानों की शूटिंग के बाद गुंजन ने कहा कि भारत में विदेशों से ज्‍यादा खूबसूरत लोकेशन हैं, जिसे एक्‍सप्लोर करने की जरूरत है। अब बनारस को ही ले लीजिये। यहां एक से बढ़कर एक खूबसूरत लोकेशन हैं, जहां शूटिंग के दौरान एक खास अनुभूति होती है। इसलिए मुझे लगता है कि अगर हम इन लोकेशन पर शूट करें तो विदेश जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

बता दें कि गुंजन ने बनारस के कई मनभावन लोकेशन पर सतीश कुमार प्रजापति निर्मित तीन – तीन गानों की शूटिंग पूरी कर ली। इन गानों में आवाज तनु प्रियंका का है। आर आर फिल्‍म्स वी एन एस प्रोडक्‍शन के तीनों गाने अलबम ‘आदत नहीं मजबूरी थी दिल की’ का है। इसके म्‍यूजिक डायरेक्‍टर आशीष शर्मा, कोरियोग्राफर सोनू गुप्‍ता और पीआरओ संजय भूषण पटियाला हैं। इन गानों में गुंजन के सोनू गुप्‍ता के साथ नजर आयीं, जहां उनकी केमेस्‍ट्री शानदार है।

गुंजन कहती हैं कि मेरे सभी गाने अच्‍छे हैं। लोगों को यह यकीनन पसंद आने वाली है। इसकी शूटिंग बनारस और सोनभद्र में हुई है। मेरे लिए यह ट्रिप यादगार रहा है, क्‍योंकि मैं नये साल के मौके पर शूटिग भी कर रही थी और बनारस में मंदिरों के दर्शन भी कर रही थी। बनारस मेरे पसंदीदा शहरो में से एक है। अक्‍सर में ये बात अपने इंटरव्‍यू में भी कहती आयी हूं। मुझे इस बार बनारस में लोकल फूड का टेस्‍ट भी मिला। इसके लिए मैं प्रोड्यूसर सतीश कुमार प्रजापति को थैंक्‍स कहूंगी।

Next Post

आम्रपाली और काजल ने ऐसा क्‍या मैसेज कर दिया, जो भावुक हो गए अभिनेता देव सिंह

Wed Jan 13 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it आम्रपाली और काजल ने ऐसा क्‍या मैसेज कर दिया, जो भावुक हो गए […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links