बीएड प्रथम वर्ष एवं स्नातक द्वितीय वर्ष के छात्रों को अगले सत्र में प्रमोट हेतु स्मार पत्र सौंपा

बीएड प्रथम वर्ष एवं स्नातक द्वितीय वर्ष के छात्रों को अगले सत्र में प्रमोट हेतु स्मार पत्र सौंपा

सत्येन्द्र कुमार शर्मा

आर एस ए का एक प्रतिनिधिमंडल विश्वविद्यालय प्रशासन को एक स्मार पत्र सौंपा। साथ ही परीक्षा नियंत्रक प्रोफेसर डॉक्टर अनिल कुमार सिंह से मिलकर प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि छात्र हित में प्रमुख मांगे बीएड प्रथम वर्ष सत्र 2019-21 की परीक्षा एवं स्नातक द्वितीय खंड सत्र2017- 2020 की परीक्षा स्थगित कर छात्र छात्राओं को प्रमोट कर दिया जाए। स्नातक प्रथम खंड सत्र 2019 -20 के छात्र-छात्राओं का अभी तक पंजीयन कार्ड नहीं मिला है। नामांकन होने के 90 दिनों के अंदर पंजीयन कार्ड उपलब्ध करा देना होता है उसके बावजूद भी अभी तक नहीं मिला है। इसे तुरंत उपलब्ध कराया जाए । आज स्नातक प्रथम खंड सत्र 2020 -21 में नामांकन के लिए अप्लाई प्रारंभ किया जाए। स्नातक प्रथम खंड 2020- 21 में जयप्रकाश विश्वविद्यालय के सभी महाविद्यालय में नामांकन के लिए राज्य सरकार से जितने स्वीकृत सीट है। उसको दुगुना करने हेतु राज सरकार के शिक्षा विभाग को लिखा जाए एवं नामांकन चालू होने से पहले उसने सीटों की बढ़ोतरी का पत्र निर्गत करा लिया जाए। क्योंकि महामहिम कुलाधिपति महोदय ने स्पष्ट रूप से बोल दिया है कि निर्धारित सीटों से एक भी नामांकन अधिक नहीं होना चाहिए। सारण प्रमंडल में इस बार इंटर पास होने वाले छात्र-छात्राओं की संख्या 10 गुना अधिक है । इसलिए नामांकन चालू करने के पहले सीटों की संख्या की बढ़ोतरी करा ली जाए। स्नातक प्रथम खंड नामांकन में पिछले बार जिस कंपनी से नामांकन प्रक्रिया अपनाई गई थी। छात्र छात्राओं को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा था ।आर्थिक भ्रष्टाचार के आरोप लगा ।मेघा सूची निकालने में भारी गड़बड़ी की गई ।इसलिए इस बार नामांकन प्रक्रिया को अलग रखा जाए। किसी दूसरे कंपनी को दिया जाए ताकि छात्र-छात्राओं का नामांकन प्रक्रिया में कोई दिक्कत नहीं हो । पीएचडी के छात्र- छात्राओं का लॉक डाउन एवं ऑन लॉक वन के कारण जिनका सिनॉप्सिस शोध ग्रंथ जमा नहीं हो पाया है। उनके लिए यूजीसी ने छ: माह का अतिरिक्त समय दिया है। लेकिन जयप्रकाश विश्वविद्यालय प्रशासन अभी तक इस पत्र का नोटिफिकेशन जारी नहीं किया है। जल्द से जल्द 6 माह का एक्सटेंशन सभी छात्र छात्राओं को एक्सटेंशन पत्र देने की कृपा की जाए। प्रतिनिधिमंडल में संगठन के संयोजक विवेक कुमार विजय, अमरेश सिंह राजपूत, अर्पित राज गोलू, चंदन सिंह ,भानु प्रताप सिंह, मोनू कुमार, राजन कुमार सिंह, मिथिलेश्वर कुमार ,सोनू विशाल सिंह आदि मौजूद रहे। उक्त आशय की जानकारी विवेक कुमार विजय संयोजक आर एस ए ने बताया।

Next Post

रात्रि प्रहरी के पद पर वरियता सूची के वरिय का योगदान

Sat Jun 27 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it रात्रि प्रहरी के पद पर वरियता सूची के वरिय का योगदान सत्येन्द्र कुमार […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links