बेतिया:”मास्क का सुरक्षा चक्र-एक मुहिम“ को मिल रही आशातीत सफलता।

बेतिया:”मास्क का सुरक्षा चक्र-एक मुहिम“ को मिल रही आशातीत सफलता।

अबतक लगभग ढ़ाई हजार लोगों ने मास्क लगाये फोटो भेजे।

सभी फोटो को जिला प्रशासन के आधिकारिक फेसबुक एवं ट्विटर पर किया गया है पोस्ट।

मास्क अपनाएं और कोरोना को हराएं: जिलाधिकारी।

बेतिया(29/06/2020)जिला प्रशासन द्वारा कोरोना की रोकथाम हेतु मास्क का उपयोग करने एवं अन्य उपायों को अपनाने के लिए “मास्क का सुरक्षा चक्र: एक मुहिम” चलाया गया है। यह मुहिम अब एक जन अभियान का रूप ले चुका है। जिला प्रशासन द्वारा जारी किये गये व्हाट्एप नंबर पर अबतक लगभग ढ़ाई हजार लोगों ने मास्क पहनकर अपना फोटो भेजा है, जिसे जिला प्रशासन की आधिकारिक फेसबुक एवं ट्विटर पर पोस्ट किया जा चुका है।

जिलाधिकारी, कुंदन कुमार द्वारा इस मुहिम में शामिल हुए सभी जिलेवासियों की सराहना की गयी है। उन्होंने कहा कि मौजूदा हालात में मास्क का प्रयोग अत्यंत ही आवश्यक है। घर से निकलते समय मास्क अनिवार्य रूप से पहनें। इसके साथ ही एक-दूसरे के बीच दो गज की दूरी भी जरूरी है। समय-समय पर साबुन अथवा सैनेटाइजर से अच्छे तरीके से हाथों को साफ करते रहें। अपने आसपास, अपने कार्यस्थल, अपने घरों में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखकर कोरोना महामारी को हराया जा सकता है। जिलाधिकारी द्वारा मास्क का प्रयोग एवं 2 गज की दूरी अपनाने हेतु जिलेवासियों को जागरूक एवं प्रेरित करने के उदेश्य से जिला प्रशासन द्वारा चलाये जा रहे मास्क मुहिम में सभी जिलेवासी अपनी-अपनी सहभागिता दें। मास्क का उपयोग तथा 2 गज की दूरी अपनाकर हम सभी कोरोना को मात दे सकते हैं।

ध्यातव्य हो कि इस मुहिम से जुड़ने के लिए पश्चिम चम्पारण जिलेवासी मास्क के साथ अपना फोटो, नाम और विवरण जिला प्रशासन को व्हाट्सएप नंबर-8083205767 पर भेंजे। आपकी तस्वीर जिला प्रशासन के फेसबुक पेज और ट्विटर पर पोस्ट किया जायेगा।

Next Post

बगहा:अंतर सीमा बाढ़ उत्थानशील परियोजना के द्वारा टिड्डी के प्रभाव से बचाव हेतु जागरूकता अभियान चलाया गया

Mon Jun 29 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it बगहा:अंतर सीमा बाढ़ उत्थानशील परियोजना के द्वारा टिड्डी के प्रभाव से बचाव हेतु […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links