व्यवसायिक संघ ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मेडिकल टीम को कोरोना टीकाकरण के लिए धन्यवाद

व्यवसायिक संघ ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मेडिकल टीम को कोरोना टीकाकरण के लिए धन्यवाद

 

मोतिहारी।पु.च
व्यवसायिक संघ सुगौली के सफल प्रयास से सुगौली में कोरोना वैक्सीनेशन का निरंतर टीकाकरण शिविर लगाने तथा प्रचार प्रसार से सुगौली में कोरोना वैक्सीनेशन का जागरूकता अभियान भी चलाने से लोगों में आई जागरूकता और लोग लंबी कतार लगाकर टीका लिए जिससे सुगौली में लगभग शत प्रतिशत के लिए टीका लगाया जा रहा है।व्यवसायिक संघ सुगौली के इस विकट परिस्थितियों में लोगों को जागरूक कर टीकाकरण शिविर लगातार लगवाने के लिए तथा लोगों को जागरूक करने के लिए इनके प्रयास तथा सहयोग के लिए चिकित्सा पदाधिकारी सुगौली ने बहुत बहुत धन्यवाद दिया तथा उन्होंने बताया कि व्यवसायिक संघ सुगौली का कोरोना वैक्सीनेशन शिविर लगवाने तथा इनके जागरूकता का बहुत सराहना भी किये इनके सफल प्रयास से सुगौली में कोरोना वैक्सीनेशन का काम बहुत ही अच्छा रहा वहीं व्यवसायिक संघ सुगौली के अध्यक्ष अशोक कुमार ने बताया कि कोरोना मुक्त सुगौली बनाने एवं टीका युक्त सुगौली बनाने के लिये व्यवसायिक संघ सुगौली के द्वारा लगातार टीकाकरण शिविर लगाया गया तथा इसका प्रचार प्रसार भी जोर शोर से किया गया जिससे टीका के प्रति लोगों में जो भय था उसे निकाल कर लोगों में जागरूकता लाया गया लोगों को साफ़ सुंदर एवं शांतिपूर्ण माहौल में टीकाकरण शिविर लगा कर टीका लगवाया गया इसी के तहत आज बुधवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सुगौली पहुंच कर चिकित्सा पदाधिकारी को कोरोना टीकाकरण शिविर लगवाने में किये गये सहयोग के लिए सभी मेडिकल टीम को धन्यवाद ज्ञापन दिया गया इस अवसर पर व्यवसायिक संघ सुगौली के सदस्य प्रियांशु सर्राफ तथा अन्य लोग उपस्थित थे।

Next Post

अंधेरी रातों में बाढ़ प्रभावित जरूरतमंदों के लिए हिंदुस्तान आवाम वॉयस एंड ऑर्गेनाइजेशन ने बढ़ाया मदद का हाथ

Wed Jul 21 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it अंधेरी रातों में बाढ़ प्रभावित जरूरतमंदों के लिए हिंदुस्तान आवाम वॉयस एंड ऑर्गेनाइजेशन […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links