बकरीद एवं श्रावणी पर्व पर कोविड जाँच बढ़ाने को लेकर डीएम ने दिया दिशा निर्देश 

बकरीद एवं श्रावणी पर्व पर कोविड जाँच बढ़ाने को लेकर डीएम ने दिया दिशा निर्देश

– बाहर से आने वाले यात्रियों की कोविड टेस्टिंग बढ़ायी जाए – डीएम

प्रमोद कुमार
मोतिहारी।पु.च
देश में बढ़ रहे कोविड 19 के मामलों के बीच सतर्कता बरतते हुए जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक ने मोतिहारी के सिविल सर्जन को आगामी बकरीद एवं श्रावणी पर्व पर कोविड जाँच बढ़ाने को लेकर दिशा निर्देश जारी किया है। जिलाधिकारी ने त्यौहारों के अवसर पर विधि व्यवस्था संधारण एवं कोविड टेस्टिंग को बढ़ाने के संबंध में समीक्षात्मक बैठक की एवं कई महत्वपूर्ण आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कोविड टेस्टिंग बढ़ाने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि केरल और महाराष्ट्र में संक्रमण के मामले कम नहीं हो पा रहे हैं। वर्तमान में कोविड जाँच का दायरा बढ़ाना होगा। उन्होंने सिविल सर्जन को कहा कि कोविड संक्रमण के आइसोलेट मामलों को देखें और ध्यान देकर कार्रवाई करें।जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक ने निर्देश दिया कि रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, मार्केट और सघन इलाकों में टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जाए। कोरोना से लड़ने के लिए हमारे पास टीकाकरण और टेस्टिंग यही दो हथियार हैं। यही हमें आगे संभावित तीसरे लहर से बचायेगा। इसलिए आक्रामक तरीके से टेस्टिंग की संख्या बढ़ानी होगी। उन्होंने बाहर से गाड़ियों के द्वारा आने वाले यात्रियों के टेस्टिंग कराने पर भी जोड़ दिया। कोविड 19 संक्रमण का मामला मिलने पर पूरे गांव के सभी लोगों का टेस्टिंग करायी जाए। मास्क चेकिंग और वाहन चेकिंग का अभियान चलाएं। राज्य सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों का अनुपालन करवाएं। कोरोना संबंधी आदेश में त्यौहार के संबंध में स्पष्ट उल्लेख है कि क्या-क्या कार्यक्रम निषेध हैं, धार्मिक स्थल बंद रहेंगे, भीड़भाड़ को एक जगह पर एकत्रित नहीं होने देना है। धार्मिक स्थलों के बाहर भी आयोजन प्रतिबंधित है और जुलूस भी नहीं निकलेगा।डीएम ने कई अल्पसंख्यक संगठनों से संपर्क किया है। उन्होंने निर्देश दिया कि स्थानीय प्रशासन को ईदगाह और मस्जिद कमेटी को अवगत करा देना चाहिए कि अभी यह बंद रहेंगे। स्थानीय थाना भी मोहल्ले में लोगों और मस्जिदों को बंद रखने के संबंध में जानकारी दें। बिहार स्टेट सुन्नी वक्फ बोर्ड ने धार्मिक स्थलों को बंद रखने का पत्र निकाला है। अल्पसंख्यक शीर्ष संगठन इमारते शरिया भी कोविड काल में सरकार की चिंता को समझता है। अन्य संगठनों के साथ वो मिलकर सामूहिक अपील निकालेंगे। कुर्बानी के संबंध में भी सावधानी अपेक्षित है। कोरोना प्रोटोकॉल को देखते हुए कानून का पालन करते हुए बकरीद मनाया जाए। उन्होंने भी बकरीद के साथ श्रावणी मेला और सोमवारी के दौरान धार्मिक स्थलों और शिवालयों  को बंद रखने का निर्देश दिया।जिलाधिकारी ने कहा जब तक सभी लोगों का टीकाकरण नहीं  हो जाता कोरोना काल में  सावधानी बरतने की जरूरत है । कोरोना से डरने की नहीं, बल्कि सावधानी पूर्वक लड़ने की आवश्यकता है। बिना कारण भीड़ भाड़ में न जाएं । इस बैठक में सिविल सर्जन एवं स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Next Post

बाढ़ पीड़ितों के बीच खाद्य सामग्रियों का हुआ वितरण

Mon Jul 19 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it बाढ़ पीड़ितों के बीच खाद्य सामग्रियों का हुआ वितरण केसरिया । प्रखण्ड छेत्र […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links