जिलाधिकारी ने सदर अस्पताल कर्मचारियों पर सख्त निर्देश

जिलाधिकारी ने सदर अस्पताल कर्मचारियों पर सख्त निर्देश

गरीब दर्शन
मोतिहारी।पु0च0

सरकार भले ही लाख दावे कर ले व कोरोना महामारी के लाख बचाव के उपाय बता दे लेकिन जमीनी हक़ीक़र किसी से छुपी नही है ।एक ओर जहां कोरोना का ग्राफ लगातार अपनी बुलंदियों को छू रही है व देखते ही देखते लाख का आंकड़ा पार कर गया हो लेकिन बिहार व खास कर चंपारण के लोगो मे इसका कोई डर नही है ।भले ही कई राज्यों में लॉक डाउन की शुरुवात हो गयी है।कोरोना अपनी प्रचंड रूप में दिखलाई दे रही हो लेकिन मोतिहारी में इसका कोई खास असर नही देखा जा रहा है । आम हो या खास सभी लोग कोरोना प्रोटोकॉल का घोर उल्लंघन कर रहे हैं न कोई मास्क लगाना चाहता है और न कोई सोशल डिस्टेन्स डिस्टेन्स का पालन कर रहा है। वही दूसरी ओर जिले में कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है लेकिन लोग मानने को तैयार नही है ।आम लोगो की बात को छोड़िये अब खास लोग भी इससे अछूते नही रह गए हैं ।ताज़ा उदारहरण मोतिहारी सदर अस्पताल का है जहाँ आप फोटो मे देख सकते है कि वैसे लोग जो कोरोना से बचाव के लिए घंटो लाइन में खड़े होकर कोरोना का टीका लगवाने आये है उनमें से ज्यादातर लोगों ने न तो मास्क लगाया है और न कोई सोशल डिस्टेन्स का खयाल रख रहा है ।वही आप एक अजूबे तस्वीर को देखिए ये श्रीमान कोरोना टिका देने वाले कोरोना वारियर्स के रूप में जाने जाते है लेकिन इन्होंने भी मास्क नही पहना है ।ओर पूछने पर कहते है कि मेरा मास्क छूट गया है इसीलिए नही लगाए हैं ।अब आप सोच सकते है कि कैसे जिले में कोरोना के साथ घोर माजाक हो रहा है जहां कोरोना वारियर्स ही लापरवाह दिख रहे हैं ऐसे में अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि जिले की स्थिति कितनी भयावह होने वाली है ।
बाइट–कोरोना वारियर्स

वही जब हमने इस संबंध में जिलाधिकारी से बात की तो उन्होंने इसे घोर लापरवाही बताया व ऐसे लोगो पर कार्यवाही की बात की व दंडित करने का आदेश अस्पताल प्रबंधक को दिऐ।

Next Post

छात्रों ने परीक्षा में लहराया परचम

Fri Apr 9 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it छात्रों ने परीक्षा में लहराया परचम गरीब दर्शन मोतिहारी।पु0च0 मिशन चौक स्थित कैरियर […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links