मोतिहारी विधानसभा से रालोसपा लड़ेगी चुनाव

मोतिहारी विधानसभा से रालोसपा लड़ेगी चुनाव

प्रमोद कुमार

मोतिहारी : रालोसपा, चिकित्सा प्रकोष्ठ क़े प्रदेश अध्यक्ष डॉ दीपक कुमार ने बुधवार क़ो मोतिहारी विधान सभा क्षेत्र अन्तर्गत गोढवा पंचायत एवं रुलही पंचायत क़े कई गांवों में सघन भ्रमण किया। लोगो के सुख दुख को देखा। डॉ कुमार ने बताया है कि गांव के लोग अभी भी मूलभूत समस्या रोटी, कपड़ा, मकान से जूझ रहे है, गरीब के राशनकार्ड में अनियमितता बरती गई है, बहुत सारे लोगों को बृद्धा पेंसन नही मिल रहा है। जरूरत मन्द को आवास योजना का लाभ नही मिल पाया है, सरकार के लापरवाही एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों के लापरवाही से इंद्रा आवास योजना में घुस लिया जाता है। नल जल योजना पूरी तरह से फेल है, किसी को पानी नही मिलता पानी के लिए सभी निजी चापाकल पर निर्भर है । नल जल योजना में सिर्फ घोटाला हुया है, रोड का स्थिति भी जजर्र है ।स्थानीय विधायक द्वारा जमीनी स्तर पर कोई कार्य नही किया गया है बिधायक द्वारा लोगो को सिर्फ असवासन दिया जाता है जिससे ग्रामीण नाराज है ।
डॉ कुमार ने लोगो से अपील किया कि रालोसपा के हाथ को मजबूत कीजिए रालोसपा मोतिहारी विधानसभा सहित पूरे बिहार में जरूरी पढ़ाई, दवाई, कमाई, सिचाई, सुनवाई, करवाई की व्यवस्था को सुदृढ़ करेगी ।रालोसपा मोतिहारी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेगी और स्थानीय विधायक को सत्ता से बेदखल कर के बिहार में सत्ता परिवर्तन करेगी ।भ्रमण के दौरान गोढवा गांव के पूर्व मुखिया रविभूषण प्रसाद, भोपाल प्रसाद, पैक्स अध्यक्ष पप्पू कुमार, चुमन कुमार, ओमप्रकाश कुमार, रुलही पंचायत के मुखिया रामदेव राम आदि ने अपनी बात को रखी ।भ्रमण में मोतिहारी प्रखण्ड के कार्यकारी प्रखण्ड अध्यक्ष जे पी सिंह, चिकित्सा प्रकोष्ठ प्रदेश महासचिव अन्गेस कुमार, अजय कुमार यादव, सुरेस मेहता, महेंद्र राम, जिला महासचिव सुरेश मेहता आदि गणमान्य लोग उपस्थित थे ।

Next Post

टीवी न्यूज पैकेजिंग एंड स्क्रिप्टिंग' विषय पर राष्ट्रीय वेब संगोष्ठी का हुआ आयोजन

Thu Jun 25 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it टीवी न्यूज पैकेजिंग एंड स्क्रिप्टिंग’ विषय पर राष्ट्रीय वेब संगोष्ठी का हुआ आयोजन […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links