आंगनवाड़ी केंद्रों पर 1 सितंबर से 30 तक होगा आयोजन

आंगनवाड़ी केंद्रों पर 1 सितंबर से 30 तक होगा आयोजन

आदित्य रंजन

पताही : प्रखंड मुख्यालय परिसर स्थित समेकित बाल विकास परियोजना कार्यालय में शनिवार को राष्ट्रीय पोषण माह दिवस कार्यक्रम का शुभारंभ, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ मोहनलाल एवं बाल विकास परियोजना पदाधिकारी कुमारी प्रगति ने दीप प्रज्वलित कर संयुक्त रूप से कार्यक्रम की शुरुआत किया । इस दौरान सीडीपीओ कुमारी प्रगति ने गर्भवती महिलाओं को पोषण के प्रति सबसे अधिक सजग रहने के लिए आह्वान किया। वहीं कहा कि कम साधन में ज्यादा पौष्टिकता लेने के लिए अपने आस-पास उपलब्ध चीजों का इस्तेमाल करें। उन्होंने गाजर, मूली, केला खाने से खून बढ़ाने व बच्चों को छह माह के बाद ऊपरी अनाज-दाल,चना, गुड़ खिलाकर कुपोषण से बचाने के सुझाव दिए। साग सब्जी खूब खाकर एनीमिया को दूर भगाने की अपील की। वही प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ मोहन लाल प्रसाद ने बताया कि पोषण सप्ताह (एनएनडब्ल्यू), भारत सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, खाद्य और पोषण बोर्ड द्वारा शुरू किया गया वार्षिक पोषण कार्यक्रम है। यह कार्यक्रम पूरे देश में प्रतिवर्ष 1 से 30 सितंबर तक मनाया जाता है। पोषण सप्ताह मनाने का मुख्य उद्देश्य बेहत्तर स्वास्थ्य के लिए पोषण के महत्व पर जागरूकता बढ़ाना है, जिसका विकास, उत्पादकता, आर्थिक विकास और अंततः राष्ट्रीय विकास पर प्रभाव पड़ता है।प्रत्येक वर्ष पोषण सप्‍ताह स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण राष्‍ट्रीय पोषण सप्‍ताह मनाता है, जिसमें इस अवधि के दौरान बच्‍चों के स्‍वास्‍थ्‍य की रक्षा और उनकी बेहतरी में उचित पोषण के महत्‍व के बारे में जन जागरूकता पैदा करने के लिए एक सप्‍ताह का अभियान चलाया जाता है।
नवजात शिशु एवं बाल आहार प्रथाओं को अधिकतम बढ़ावा देने के लिए मंत्रालय ने “मां- मां की असीम ममता” कार्यक्रम शुरू किया है ताकि देश में स्‍तनपान का दायरा बढ़ाया जा सके। मां कार्यक्रम के अंतर्गत स्‍तनपान को बढ़ावा देने और कार्यक्रम प्रबंधकों सहित डॉक्‍टरों, नर्सों और एएनएम के साथ आशा और करीब स्‍वास्‍थ्‍य कार्यकर्ताओं को संवेदनशील बनाया गया है और 23,000 से ज्‍यादा स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा कर्मचारियों को आईबाईसीएफ प्रशिक्षण दिया गया है। साथ ही उपयुक्‍त स्‍तनपान परंपराओं के महत्‍व के संबंध में माताओं को संवेदनशील बनाने के लिए ग्रामीण स्‍तरों पर आशा द्वारा अधिक माताओं की बैठकें सभी आंगनवाड़ी केंद्रों पर आयोजित किया जाना है। मौके पर केयर इंडिया के समन्वयक वीरेंद्र कुमार, महिला पर्यवेक्षिका शिवांगी कुमारी, विमल कुमारी, कार्यपालक सहायक संदीप कुमार, बीएमसीटी रामनिवास सिंह, उपस्थित थे।

Next Post

भारतीय पंचायत पार्टी की जिला कार्यकारिणी की हुई घोषणा

Sun Sep 20 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it भारतीय पंचायत पार्टी की जिला कार्यकारिणी की हुई घोषणा शहाबुद्दीन अहमद बेतिया  : […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links