हरिशयनी एकादशी 20 जुलाई मंगलवार को

हरिशयनी एकादशी 20 जुलाई मंगलवार क

मोतिहारी।पु.च
श्री हरिशयनी (देव शयनी) एकादशी व्रत का मान सबके लिए 20 जुलाई मंगलवार को है। इसका पारण 21 जुलाई बुधवार को प्रातः 05:19 बजे के बाद जौ से किया जाएगा।भविष्योत्तर पुराण के अनुसार आषाढ़ शुक्लपक्ष की एकादशी को ही हरिशयनी या देवशयनी एकादशी कहा जाता है। कहीं कहीं इसे पद्मनाभा एकादशी भी कहते हैं। इसी दिन से चतुर्मास का आरंभ माना जाता है। इस दिन भगवान श्री हरि विष्णु क्षीरसागर में शयन करते हैं। इस दिन जगत् के पालनहार श्री विष्णु का विधिवत पूजन कर उन्हें शयन कराया जाता है। भगवान के शयन अवधि (चतुर्मास) में मांगलिक कार्य बन्द हो जाते हैं।उक्त जानकारी महर्षिनगर स्थित आर्षविद्या शिक्षण प्रशिक्षण सेवा संस्थान-वेद विद्यालय के प्राचार्य सुशील कुमार पाण्डेय ने दी।उन्होंने बताया कि पुराणों का ऐसा भी मत है कि भगवान विष्णु इस दिन चार माह पर्यन्त पाताल में राजा बलि के द्वार पर निवास करके कार्तिक शुक्लपक्ष एकादशी को लौटते हैं। इसी प्रयोजन से इस दिन को देवशयनी तथा कार्तिक शुक्लपक्ष एकादशी को देव प्रबोधिनी या देवोत्थान एकादशी कहते हैं।ब्रह्मवैवर्त पुराण में इस एकादशी के विशेष महात्म्य का वर्णन किया गया है। इस व्रत से प्राणी की समस्त मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है।

Next Post

पोखर में डूब कर दो बच्चों की मौत गांव में छाया मातम

Sun Jul 18 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it पोखर में डूब कर दो बच्चों की मौत गांव में छाया मातम   […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links