भारत की एकता और अखंडता के नायक थे डॉ. मुखर्जी – पूर्व विधायक तारकेश्वर

भारत की एकता और अखंडता के नायक थे डॉ. मुखर्जी – पूर्व विधायक तारकेश्वर

सत्येन्द्र कुमार शर्मा,

भारत की एकता और अखंडता के अप्रतिम नायक डॉ. मुखर्जी ने न केवल स्वतंत्रता से पहले देश के लिए संघर्ष किया, बल्कि स्वतंत्रता के बाद भी देश की एकजुटता के लिए अपने प्राणों को आहूत कर दिया। बंगाल, पंजाब और कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाये रखने के लिए उनका तप और संघर्ष वंदनीय है।‬डॉ. मुखर्जी ने देश व देशवासियों के हितों से समझौता ना करते हुए सरकार से इस्तीफा देने में भी क्षण भर नहीं लगाया।राष्ट्र व विचारधारा समर्पित उनका जीवन मेरे जैसे करोड़ों कार्यकर्ताओं व देशवासियों को सदैव प्रेरित करता रहेगा। उपर्युक्त बातें भाजपा मशरक दक्षिणी मंडल के तत्वाधान में गंगौली शक्ति केंद्र के घोंघिया गांव के बूथ संख्या 104, 105 के दलित बस्ती में आयोजित महान राष्ट्रवादी नेता एवं जनसंघ के संस्थापक डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस को संबोधित करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विधायक तारकेश्वर सिंह ने कहा।कार्यक्रम की शुरुआत डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विधायक तारकेश्वर सिंह ने श्रधांजलि अर्पित की।कार्यक्रम को श्री सिंह के अलावे भाजपा किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष बबलू मिश्रा, भाजपा के जिला मंत्री विजय पांडेय, बनियापुर विधानसभा के प्रभारी सुदामा तिवारी, जावेद अंसारी, भाजयुमो मशरक दक्षिणी मंडल के अध्यक्ष विवेक नाथ तिवारी सहित सैकड़ो कार्यकर्ताओं ने डॉ मुखर्जी के चित्र पर पुष्पांजलि कर राष्ट्रीय अस्मिता के ऐसे अद्वितीय प्रतीक को नमन किया ।इस अवसर पर सुरेन्द्र नट मंत्री मशरक दक्षिणी मंडल, बुथ अध्यक्ष राजकिशोर चौधुरी, रामावतार राम, कमलेश राम,किसान मोर्चा के मंडल उपाध्यक्ष संजय कुशवाहा,दक्षिणी मंडल महिला अध्यक्ष बबिता सिंह, शैलेश राम,वार्ड सदस्य अरविन्द राम, अलाउद्दीन, नागेन्द्र राम आदि सैकड़ो लोग मौजूद रहे।

Next Post

थाना पुलिस को मास्क सेनेटाइजर भेंट

Wed Jun 24 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it थाना पुलिस को मास्क सेनेटाइजर भेंट संवाद सूत्र, मथुरा थाना प्रभारी महावन मथुरा […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links