क्षेत्रीय विकास परिषद मोतिहारी एवं चकिया की संयुक्त समीक्षा बैठक आयोजित

क्षेत्रीय विकास परिषद मोतिहारी एवं चकिया की संयुक्त समीक्षा बैठक आयोजित

मोतिहारी।पु.च
जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक की अध्यक्षता में क्षेत्रीय विकास परिषद मोतिहारी एवं चकिया की संयुक्त समीक्षा बैठक आयोजित हुआ।
इस बैठक में ईख पदाधिकारी, सहायक निदेशक ईख विकास, चीनी मिल गोपालगंज मझौलिया, सिधवलिया के प्रतिनिधि ने भाग लिया।मुख्य रूप से क्षेत्रीय विकास परिषद मोतिहारी व चकिया के संयुक्त बैठक मे निम्न एजेंडा पर विस्तृत चर्चा की गई ।वित्तीय वर्ष 2020 – 21 एवं 2021-22 के बजट प्रस्ताव पर विचार-विमर्श तथा अनुमोदन। बजट प्रस्ताव स्वीकृति उपरांत योजनाओं के क्रियान्वयन पर चर्चा।चीनी मिलों से प्राप्त ईख विकास संबंधी योजना प्रस्ताव पर विचार विमर्श। क्षेत्रीय विकास परिषदों के बकाया कमीशन हेतु चीनी मिलों को निर्देश । मझौलिया चीनी मिल द्वारा विगत कई वर्षों से कमीशन भुगतान नहीं किए जाने पर चर्चा । श्री दयानंद साहनी , संविदा अनुसेवक के भूतलक्षी प्रभाव से अवधि विस्तार पर विचार विमर्श।
जिलाधिकारी महोदय ने बिंदुवार प्रस्ताव का समीक्षा की।ईख विकास पदाधिकारी ने कहा कि 70% बजट ईख विकास के लिए किया जाना है।जिलाधिकारी ने कहा कि बकाया कमीशन भुगतान हेतु ईख पदाधिकारी स्वयं जांच करेंगे यदि बकाया है तो रिपोर्ट सात दिनों के अंदर भेजेंगे ।बकाया राशि को कर्णकित करके शेष बचे हुए राशि में ही बजट बनाने का निर्देश जिलाधिकारी महोदय द्वारा दिया गया।उन्होंने कहा कि बजट प्रस्ताव योजनावार बनाया जाए। योजनावार बजट प्रस्ताव बनाकर विभाग को भेजा जाएगा।श्री दयानंद सहनी अनुसेवक की एक साल के लिए संविदा विस्तार का अनुमोदन हुआ ।शेष वर्षों के लिए एक टीम बनाकर जांच प्रतिवेदन के उपरांत ही निर्णय लिया जाएगा।

Next Post

SSB ने भारी मात्रा में मादक पदार्थ ( गांजा) किया जप्त , साथ में दो नेपाली तस्कर को पकड़ा

Thu Jul 22 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it SSB ने भारी मात्रा में मादक पदार्थ ( गांजा) किया जप्त , साथ […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links