सुल्तानगंज में 3 अगस्त को सुशांत सिंह राजपूत फिल्म सिटी का शिलान्यास

सुल्तानगंज में 3 अगस्त को सुशांत सिंह राजपूत फिल्म सिटी का शिलान्यास

सत्येन्द्र कुमार शर्मा

शनिवार 01 अगस्त : भारतीय सबलोग पार्टी ने फिल्मसिटी निर्माण का बीड़ा उठाया है,कार्यक्रम में कई गणमान्य उपस्थित रहेंगे। बिहारी अस्मिता के प्रतीक दिवंगत फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर बिहार की धर्म नगरी सुल्तानगंज में आगामी 3 अगस्त को भारतीय सबलोग पार्टी फिल्म सिटी का शिलान्यास करेंगी। इसके लिए स्थान का चयन कर लिया गया है। यह उत्तर-पूर्व भारत की पहली फिल्म सिटी होगी जो पूरी तरह देश के हिन्दी राज्यों को कवर करेंगी। शिलान्यास कार्यक्रम में भासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. अरुण कुमार, पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा,भासपा की प्रदेश अध्यक्ष डा.रेणू कुशवाहा समेत तमाम गणमान्य लोग उपस्थित रहेंगे।

उक्त जानकारी देते हुए भारतीय सबलोग पार्टी की प्रदेश अध्यक्ष डा.रेणू कुशवाहा के हवाले से प्रदेश सचिव सह प्रवक्ता प्रमोद सिंह टुन्ना ने बताया कि भागलपुर के धार्मिक नगरी सुल्तानगंज में सुशांत सिंह राजपूत फिल्म सिटी का निर्माण कराने के लिए भासपा प्रतिबद्ध है।फिल्मसिटी का निर्माण होने से बिहार समेत कई हिन्दी राज्यों के नौजवानों को एक्टर,प्रोड्यूसर,सिंगर,डांसर बनने के लिए मुंबई में धक्के नहीं खाने पड़ेंगे। प्रत्यक्ष तथा अप्रत्यक्ष रोजगार की अप्रतिम संभावनाएं बढ़ेंगी।बिहारी प्रतिभा सम्मान के साथ रोजगार करेगा।

श्री टुन्ना ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत फिल्म सिटी के निर्माण पर जो भी खर्च आएगा,हम जूटाने का प्रयास करेंगे।इसके लिए हमें चंदा भी मांगना पड़े तो मांगेंगे,लेकिन बिहारी प्रतिभा को हम यूं हीं मुंबई में रोजगार के लिए धक्के खाते नहीं देख सकते।हमारी कोशिश रहेगी कि शिलान्यास के बाद उद्घाटन भी करने का सपना जल्द से जल्द पूरा हो सके।

Next Post

तालाब में डूबने से एक युवक की हुई मौत

Sun Aug 2 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it तालाब में डूबने से एक युवक की हुई मौत गजेंद्र कुमार दरियापुर, शनिवार […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links