बाढ़ पिडीतो के लिए बने समुदायिक रसोई केन्द्र के नाम पर मची लूट

बाढ़ पिडीतो के लिए बने समुदायिक रसोई केन्द्र के नाम पर मची लूट

शमीम अख्तर

केसरिया 1 अगस्त: प्रखण्ड अंतर्गत बाढ़ प्रभावित इलाकों में चल रहे अधिकांश केन्द्र पर बनाए गए नोडल पदाधिकारी को पता ही नहीं है कि मुझे समुदायिक किचेन चलाने के लिए प्रतिनियुक्त किया गया हैसाथ ही केन्द्र पर अभी तक कितनी राशि का उठाव हुआ है।और किनके द्वारा राशि का उठाव किया जा रहा है। उन्हें ये भी जानकारी नही है कि उक्त केन्द्र पर कितने बाढ़ पीड़ित व्यक्ति प्रतिदिन खाना खा रहे हैं। वहीं बथना पंचायत अंतर्गत रा०म०वि०बथना उर्दू वार्ड नंबर 04के नोडल पदाधिकारी सह प्रधानाध्यापिका तमन्ना खातून के पति तथा रा०उत्क्र०म०वि०बथना गाछीटोला उर्दू वार्ड नंबर 05 के नोडल पदाधिकारी सह प्रधानाध्यापक नवीन कुमार एवं रा०प्रा०वि०प्रदुमन छपरा वार्ड नंबर 03 के नोडल पदाधिकारी सह प्रधानाध्यापिका प्रतिमा कुमारी के पति द्वारा बताया गया कि हम लोगों को कोई जानकारी नहीं है, मुखिया पति एवं वार्ड मिलकर समुदायिक किचेन चला रहे हैं साथ ही अंचल कार्यालय से पता चला है कि बथना पंचायत के बाढ़ प्रभावित इलाकों में 23 नाव अंचल कार्यालय द्वारा चलाए जा रहे हैं, जबकि स्थल पर दस नांव भी नहीं चल रहे हैं। अधिकांश नांव को बाबू लोग अपने अपने कब्जे में रखे हैं। इस संबंध में प्रतिनियुक्त वरिय उपसमाहर्ता सह अंचलाधिकारी केसरिया से विभागीय दूरभाष संख्या-8544412773 पर संपर्क करने का प्रयास किया परन्तु ख़बर प्रेषिण तक संपर्क नहीं हो सका।

Next Post

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद संजय जायसवाल ने आयोजित किया प्रेस वार्ता 

Sun Aug 2 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद संजय जायसवाल ने आयोजित किया प्रेस वार्ता  रविशंकर […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links