विद्यालय फीस के लिए गार्जियन को नहीं करे परेशान डॉ मुन्ना

विद्यालय फीस के लिए गार्जियन को नहीं करे परेशान डॉ मुन्ना

प्रमोद कुमार

मोतिहारी : सामाजिक समस्या को लेकर मंगलवार को बैठक आयोजित की गई lजोछात्र प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर मुन्ना सिंह के नेतृत्व में रामसन प्लाजा के सामने बैठक की गईl जिसमें जिले के समस्या और विद्यालय व्यवस्था को लेकर चर्चा किया गया lउस में से सबसे बड़ी समस्या स्कूलों के फीस को लेकर हैl बहुत सारे स्कूल के द्वारा गार्जियन को फोन कर उन्हें फीस री एडमिशन इत्यादि अन्य कई प्रकार के चार्ज जमा करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है lइसी को लेकर अहम बैठक में छात्र प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर मुन्ना सिंह ने कहा कि जिला के सभी स्कूल संचालकों से मैं निवेदन और विनती करता हूं कि 3 माह का फीस माफ करने के साथ ही जितना दिन स्कूल बंद है उतना दिन का बस का फीस इन चीजों का भी नहीं लिया जाए lअगर कोई भी स्कूल के संचालक किसी भी गार्जियन को परेशान या तबाह करते हैं तो मैं और मेरा संगठन इसके लिए जिला से लेकर पटना हाई कोर्ट तक लड़ने का काम करेगी lसाथही डॉ सिंह ने कहा कि कोरोना वायरस से रोजी रोजगार काफी प्रभावित हुआ हैl हर माता-पिता अपना कष्ट काटकर अच्छी शिक्षा के लिए विद्यालय भेजते हैंl अभी के हालात में बच्चों के गार्जियन खाने को बेताब हैं तू पैसा कैसे देंगे, सरकार और स्कूल प्रशासन को इस विषय पर संज्ञान लेना चाहिएl साथ ही गार्जियन और बच्चे की हित में सोच कर निर्णय लेना चाहिएlवही मौके पर उपस्थित बंजरिया प्रखंड अध्यक्ष सुरेश शाह ने कहा कि इस कोरोना वायरस मजदूर किसान काफी परेशान है lइसलिए ओ घर पर बैठा कर अपने बच्चों का फीस कैसे दे सकता हैl इसके लिए सरकार को संज्ञान लेना चाहिए lवहीं उपस्थित सुभाष पासवान ने बताया कि अगर कोई भी स्कूल वाले किसी भी गार्जियन को परेशान करता है तो हम सभी जिला के सभी नौजवान उस स्कूल संचालक के खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई करेंगेl मौके पर उपस्थित रंजन सिंह, डॉक्टर अतुल ठाकुर, डॉक्टर अमित कुमार ,नंदकिशोर कुशवाहा ,छोटे लाल साहनी, मुकेश पासवान ,राहुल सिंह, विक्रम कुमार ,चंदनपुरी अन्य साथी मौजूद थेl

Next Post

पूर्व प्रत्याशी ने जिलाधिकारी को दिया करोना जांच किट

Wed Jun 24 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it पूर्व प्रत्याशी ने जिलाधिकारी को दिया करोना जांच किट प्रमोद कुमार मोतिहारी : […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links