मोतीझील जीर्णोधार को लेकर जिला प्रशासन सख्त प्रमोद कुमार मोतिहारी  :  मोतीझील जीर्णोधार को लेकर जिला प्रशासन काफी सक्रिय है […]

इस वर्ष श्रावण में शिवभक्त नहीं कर पायेंगे शिव का जलाभिषेक मनोज कुमार,लहलादपुर। प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत दंदासपुर गांव के श्री ढोंढनाथ मंदिर में स्थित देवों के देव श्री ढोंढनाथ महादेव के शिवलिंग का जलाभिषेक इस वर्ष श्रावण महीने में शिवभक्त नहीं कर पायेंगे. चूंकि कोरोना माहामारी के बढ़ते रफ्तार को मद्देनजर रखते हुए बिहार राज्य धार्मिक न्यास पर्षद के दिशा निर्देश का पालन करते हुए श्री ढोंढनाथ मंदिर के पंडा समुदाय ने श्रावणी मेला नहीं लगाने तथा 5 जुलाई 2020 से 4 अगस्त 2020 तक मंदिर का पट बंद रखने का निर्णय लिया है. पंडों ने यह भी निर्णय लिया है कि पूरे श्रावण महीना में सिर्फ मंदिर के  पुजारी सुबह-शाम विधिवत पूजा तथा आरती किया करेंगे, अन्य दूसरा कोई शिवभक्त नहीं. बताते चलें कि श्रावण महीना में  जिला के रिविलगंज रेलवे स्टेशन के नजदीक सेमरिया के नाथ जी घाट से सरयू नदी का पवित्र गंगाजल कावंर में भरकर तथा 35 किलो मीटर पैदल चलकर श्री ढोंढनाथ बाबा का जलाभिषेक करने दूर-दराज से शिवभक्त आते हैं, जिसमें महिला शिवभक्तों की संख्या भी रहती है. मंदिर स्थापना के बाद शायद यह पहला श्रावण का महीना होगा कि शिवभक्त इसबार बाबा श्री ढोंढनाथ को जलाभिषेक नहीं कर पायेंगे. विदित हो कि श्री ढोंढनाथ बाबा का श्रावण महीने में जलाभिषेक करने नेपाल देश, बंगाल, उत्तर प्रदेश तथा बिहार के कई जिलों से शिवभक्त आते हैं.

मनोज कुमार ,लहलादपुर  :  प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत दंदासपुर गांव के श्री ढोंढनाथ मंदिर में स्थित देवों के देव श्री ढोंढनाथ […]

आर्सेनिक एल्बम औषधि कोरोना वाइरस प्रतिरोधक वैश्विक महामारी के लिए कारगर साबित होगा— पूर्व विधायक तारकेश्वर सत्येन्द्र कुमार शर्मा, ऑर्गेनाइजेशन […]

डीजल पेट्रोल की बढ़ती कीमत आसमान छूती महंगाई के खिलाफ राजद का साईकिल जुलूस सत्येन्द्र कुमार शर्मा बिहार प्रदेश राजद […]

बगहा:राष्ट्रीय जनता दल के स्थापना दिवस पर युवा राजद के कार्यकर्ताओं ने बगहा में निकाला साइकिल मार्च । दिवाकर कुमार […]

ब्रेकिंग न्यूज़

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links