सत्याग्रह से स्वच्छता अभियान के तहत मोतिहारी नगर की धरोहर मोतीझील में तीसरी बार चला स्वच्छता अभियान

सत्याग्रह से स्वच्छता अभियान के तहत मोतिहारी नगर की धरोहर मोतीझील में तीसरी बार चला स्वच्छता अभियान

प्रमोद कुमार
मोतिहारीlपु०च०
लगातार तीसरे रविवार को सत्याग्रह से स्वच्छता अभियान के तहत मोतीझील में स्वच्छता अभियान का संचालन किया गया।जिलाधिकारी,श्री एस के अशोक के नेतृत्व में श्री कृष्ण नगर घाट पर मोतीझील सफा सफाई अभियान में अपर समाहर्ता श्री शशि शेखर चौधरी अपर समाहर्ता(आपदा प्रबन्धन)श्री अनिल कुमार परियोजना निदेशक आत्मा जिला मत्स्य पदाधिकारी कार्यपालक पदाधिकारी,नगर परिषद,मोतिहारी आदि सहित बड़ी संख्या में आम नागरिकों ने भाग लिया।आज आयोजित सफाई अभियान के अन्तर्गत श्री कृष्ण नगर घाट के निकट जल कुंभी को हटाया गया है।उक्त अवसर पर जिलाधिकारी ने एनडीआरएफ(नौवीं बटालियन) के मोटर बोट के माध्यम से मोतीझील में क्रियान्वित साफ सफाई अभियान का जायजा लिया।मोतीझील में सतत साफ सफाई संचालन एवं पर्यवेक्षण के उद्देश्य से पर्याप्त संख्या में कर्मियो की प्रतिनियुक्ति हेतु अविलंब आवश्यक कार्रवाई का निर्देश कार्यपालक पदाधिकारी,नगर परिषद को दिया गया है।उक्त कार्यक्रम में भाग लेने के पश्चात जिलाधिकारी ने रोइंग क्लब में कार्गो बोट का शुभारंभ किया।आज शुभारभ किए गए तीन कार्गो बोट के माध्यम से जल क्रीड़ा में रुचि रखने वाले खिलाड़ियों को प्रशिक्षित किया जाना प्रस्तावित है ताकि वे विभिन्न स्तरो पर आयोजित होने वाले जल क्रीड़ा में भाग ले सके, इस हेतु अविलंब कार्ययोजना तैयार करने का निर्देश दिया गया है।जिलाधिकारी महोदय ने उक्त अवसर पर कहा कि मोतीझील में जारी सफाई अभियान न केवल जल के समुचित संरक्षण में मदद करेगा बल्कि यह जल क्रीड़ा नौकायन को बढ़ावा देने में सहायक सिद्ध होगा,जो निसंदेह जिला के लिए अविस्मरणीय उपलब्धि होगी।जिलाधिकारी ने उक्त अवसर पर रोइंग क्लब का निरीक्षण किया एवम् सहायक अभियंता,भवन निर्माण को क्लब के यथोचित संधारण हेतु अविलंब आवश्यक कारवाई का निर्देश दिया है।

Next Post

राज्य में शिशु मृत्यु दर 03अंक घटकर राष्ट्रीय औसत के बराबर

Mon Jun 29 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it राज्य में शिशु मृत्यु दर 03अंक घटकर राष्ट्रीय औसत के बराबर सत्येन्द्र कुमार […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links