शुरू हुई निर्देशक अनिल आर यादव की भोजपुरी फिल्म ‘बदलापुर’ की शूटिंग

शुरू हुई निर्देशक अनिल आर यादव की भोजपुरी फिल्म ‘बदलापुर’ की शूटिंग

कोरोना काल में अब देश में आम जीवन धीरे – धीरे ट्रैक पर आने लगी है। इसका असर सिनेमा इंडस्‍ट्री पर भी देखने को मिल रहा है। तभी के. जी. एन. हमीद फिल्म एंटरटेनमेंट की भोजपुरी फिल्म ‘बदलापुर’ की शूटिंग शुरू हो गई। आपको याद होगा वरूण धवन व हुमा कुरैशी स्‍टारर बॉलीवुड फिल्म ‘बदलापुर’ को दर्शकों ने खूब पसंद किया था। अब इस टायटल से एक भोजपुरी फिल्‍म भी बन रही है, जिसे निर्देशक अनिल आर यादव निर्देशित कर रहे हैं। उनका कहना है कि यह एक विशुद्ध भोजपुरी फिल्‍म है और इसका किसी भी फिल्‍म से कोई लेना देना नहीं है। टायटल महज संयोग है।

फिल्म ‘बदलापुर’ के निर्माता सुभान शेख हैं, जिन्‍होंने कहा कि कोरोना ने पूरी दुनिया की कमर तोड़ कर रख दी। ऐसे में इससे फिल्‍म इंडस्‍ट्री कहां अछूता रहती। मगर अब चीजें सामान्‍य हो रही हैं। इसलिए हमने अपनी फिल्म ‘बदलापुर’ की शूटिंग शुरू कर दी है। फिल्‍म की शूटिंग में सरकार द्वारा जारी तमाम दिशा निर्देशों का भी पालन कर रहे हैं। हम नहीं चाहते कि हमारे सेट पर किसी तरह की अनहोनी हो। हमारे तमाम साथी कोरोना से बचाव को लेकर पूरी तरह से जागरूक हैं। फिल्‍म की शूटिंग सिद्धार्थ नगर (इटवा) उत्तर प्रदेश के खूबसूरत लोकेशन पर हो रही है।

फिल्‍म के निर्देशक अनिल आर यादव ने कहा कि यह पूरी तरह से कमर्सियल सिनेमा है, जिसमें कला और विषय – वस्‍तु को ज्‍यादा तरजीह दी जा रही है। फिल्‍म में जमाल खान, रूपा सिंह ,छाया सिंह ,संजय वर्मा ,प्रियंका चौधरी ,यशवंत कुमार ,श्रद्धा नवल , रागनी यादव ,खुसबू विश्कर्मा ,अभय राय , रमजान शेख मुख्‍य भूमिका में हैं। फिल्‍म की कहानी प्रेम अग्रवाल ने लिखी है। संगीत अनुज तिवारी का है। पीआरओ संजय भूषण पटियाला हैं। डीओपी विकास पांडेय, एक्‍शन प्रदीप खडका और कोरियोग्राफर संतोष यादव है।

Next Post

लोक जन शक्ति पार्टी द्वारा चलाया जा रहा सदस्यता अभियान

Fri Jun 26 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it लोक जन शक्ति पार्टी द्वारा चलाया जा रहा सदस्यता अभियान रंजन कुमार शेखपुरा […]

You May Like

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links