एकमा में सरवर की गड़बड़ी से दाखिल खारिज के सैकड़ों मामले लंबित

एकमा में सरवर की गड़बड़ी से दाखिल खारिज के सैकड़ों मामले लंबित

बबीता, एकमा,सारण,
शुक्रवार, 16 जुलाई 2021:
बिहार भूमि के सरवर की गड़बड़ी के चलते एकमा अंचल में दाखिल खारिज वगैरह से संबंधित करीब साढ़े चार सौ मामले लंबित चल रहे है। इनमें करीब दो- ढाई सौ मामले सीओ के पास लंबित हैं जिनका तो शीघ्र ही निपटारा होने की संभावना प्रबल है। मगर अन्य लंबित मामलों का निपटारा कब तक होगा इस बारे में कोई निश्चित तौर पर कुछ कहने को कोई तैयार नही है। कारण है कि बिहार भूमि का सरवर विगत डेढ़- दो सप्ताह से बाधित चल रहा है। यह गड़बड़ी पटना मुख्यालय से ही होने की भी बात बताई जा रही है। इसके चलते आरटीपीएस के द्वारा ऑनलाइन डाले गए लोगों के आवेदन मसलन दाखिल खारिज आदि का अपडेट नहीं हो पा रहा है जिससे उनका काम आगे नहीं बढ़ रहा है। इसके अलावा उक्त साइट का नेटवर्क भी काफी स्लो चल रहा है जिससे लोगों को अपने जमीन का जमाबंदी नंम्बर आदि भी निकालने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इससे लोगों के जमीन की खरीद- बिक्री का काम भी बाधित हो रहा है जिससे उनको परेशानी हो रही है। एकमा अंचल की सीओ कुमारी सुषमा का कहना है कि सरवर का नेटवर्क थोड़ा स्लो हुआ है जिससे उपरोक्त कार्य को ससमय निष्पादित करने में कठिनाई हो रही है। वहीं अंचल के पंचायतों में कर्मचारियों की कमी से भी जमीन- जायदाद से संबंधित काफी काम धीरे- धीरे हो रहे हैं। सीओ बताती हैं कि अंचल के 20 पंचायतों के लिए महज चार ही कर्मचारी मौजूद है। ऐसे में एक कर्मचारी के जिम्मे कम से कम तीन व अधिक से अधिक 6 पंचायतों का कार्यभार है तो काम की रफ्तार थोड़ी स्लो होगी ही। लिहाजा बेबसाइट पर जमीन से संबंधित विवरण मिलने से लेकर जमाबंदी आदि का काम पेंडिंग चलने से खासकर बाहर रहकर काम या नौकरीपेशा लोगों को परेशानी हो रही है। बिना दाखिल खारिज या जमीन का विवरण मिले जमीन की खरीद- बिक्री का काम नहीं होने से इसी काम के लिए घर पर आए लोगों को अपना काम- धंधा का नुकसान उठाते हुए घर पर रहना पड़ रहा है। काम होने का कोई निश्चित समय नही होने से उनको बाहर निकलने का अपना टिकट बार- बार कैंसिल व बुक कराना पड़ रहा है।

Next Post

शराब के साथ दो गिरफ्तार

Fri Jul 16 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it शराब के साथ दो गिरफ्तार बबीता, एकमा(सारण)। शुक्रवार, 16 जुलाई 2021: थाना पुलिस […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links