कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर लगा ब्रेक

कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर लगा ब्रेक

– शिवहर जिले में कोरोना केस में लगातार कमी आने से राहत

-जिले में कोरोना रिकवरी रेट 97 फीसद

-कम हो रहे केस पर लापरवाही नहीं बरतें-सिविल सर्जन

नीतू राय

शिवहर, 9 जून  : शिवहर जिले में पिछले कुछ दिन से कोरोना केस में लगातार कमी आने से राहत मिली है। कभी 100 का आंकड़ा पर जिले में अब एक-दो कोरोना पॉजिटिव मरीज आना सुखद संकेत है। इससे जहां एक तरफ आमजन राहत महसूस कर रहा है तो लगातार भागदौड़ कर रहा प्रशासन, चिकित्सा महकमा भी अब थोड़ी राहत में है। हालांकि अभी भी सख्ती की जरूरत है, जिससे कि कोरोना का डर यहां से खत्म हो जाए। सिविल सर्जन डॉ आरपी सिंह ने कहा कम हो रहे केस पर लापरवाही नहीं बरतें। पिछले कुछ दिनों से कोरोना के केस जिले में कम हो रहे हैं, जो राहत की बात है। बावजूद इसके आमजन से अपील है कि वे लापरवाही ना बरतें, क्योंकि कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है। चिकित्सा महकमा प्रशासन के साथ मिलकर टीकाकरण कर रहा है, लेकिन वैक्सीनेशन के बाद भी आमजन कोरोना गाइडलाइन का पालन अवश्य करें।

जिले में कोरोना रिकवरी रेट 97 फीसद

जिले में कुल संक्रमितों की संख्या चार हजार 394 हो गई है। इनमें कुल चार हजार 255 लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं । वर्तमान में एक्टिव केस की संख्या 78 पर सिमट गया है। जिले में कोरोना रिकवरी रेट 97 फीसद और संक्रमण दर 1.32 फीसद है। इसकी जानकारी डीपीआरओ कुमार विवेकानंद ने दी है। जिले में लगातार संक्रमण में कमी आ रही है। नियमित रूप से कोविड जांच, मरीजों का इलाज और कोरोना टीकाकरण की वजह से जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमने लगी है।

लोगों में भी जागरूकता आई
कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद लोगों में भी जागरूकता आई। विशेषकर मास्क लगा कर रखने और अनावश्यक घर से बाहर नहीं निकलने पर कोरोना ग्राफ घटा है। शहर में भी लोगों की आवाजाही अपेक्षाकृत कम नजर आती है। बावजूद इसके अभी भी सजगता नहीं रखने पर स्थिति खराब होने की चिंता जरूर है।

कोरोना से बचने के लिए टीकाकरण आवश्यक

सिविल सर्जन डॉ आरपी सिंह ने बताया टीकाकरण से ही लोग सुरक्षित हो सकते हैं। कोविड से बचाने के लिए देश में चल रहा टीकाकरण सुरक्षित एवं प्रभावी है। टीकाकरण के बारे में वैज्ञानिक अनुसंधान में अब यह बात सामने आ रही है कि जिन लोगों ने कोविड- 19 की दोनों डोज ली है और अगर वो कोरोना से संक्रमित हो भी जाते हैं तो स्वस्थ होने में उन्हें अधिक समय नहीं लगता है।

कोरोना काल में इन उचित व्यवहारों का करें पालन
– एल्कोहल आधारित सैनिटाइजर का प्रयोग करें।
– सार्वजनिक जगहों पर हमेशा फेस कवर या मास्क पहनें।
– अपने हाथ को साबुन व पानी से लगातार धोएं।
– आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें।
– छींकते या खांसते वक्त मुंह को रूमाल से ढकें।

Next Post

कोरोना काल में गर्भवती महिलाएं रखें अपना विशेष ध्यान

Thu Jun 10 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it कोरोना काल में गर्भवती महिलाएं रखें अपना विशेष ध्यान – संस्थागत प्रसव के […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links