जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी व कार्यक्रम प्रबंधक ने लगाया कोविड-19 का टीका

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी व कार्यक्रम प्रबंधक ने लगाया कोविड-19 का टीका

 

नीतू राय

कटिहार, 21 जनवरी  :   कोविड-19 टीकाकरण के प्रथम चरण में गुरुवार को सदर अस्पताल टीकाकरण स्थल पर विभिन्न स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा कोविड-19 का टीका लिया गया। इसमें जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी (डीआईओ) डॉ. डी. एन. झा, जिला कार्यक्रम प्रबंधक (डीपीएम) मनीष कुमार के साथ ही अन्य अधिकारी भी शामिल हुए। सभी अधिकारियों द्वारा टीकाकरण स्थल पर कोविड-19 के सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए टीका लगाया गया। इस दौरान अधिकारियों ने बताया कि कोविड वैक्सीन सभी लोगों को स्वतः लगाना चाहिए। इसका कोई भी दुष्परिणाम नहीं होता है जबकि टीका लगाने से लाभान्वित लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। वर्तमान समय में कोरोना संक्रमण को रोकने का यह एकमात्र विकल्प है। अतः टीकाकरण के प्रथम चरण में शामिल सभी स्वास्थ्य कर्मियों को अपने निर्धारित समय पर टीका अवश्य लगाना चाहिए।

सुरक्षित है कोविड-19 के लिए उपलब्ध टीका :

जिला कार्यक्रम प्रबंधक मनीष कुमार ने बताया कि कोविड-19 के लिए उपलब्ध कराया गया टीका पूरी तरह सुरक्षित है। टीका पूरी तरह परीक्षण एवं जांच के बाद ही भेजा गया है। इसके प्रथम चरण में सभी स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जा रहा है। हमसभी की यह जिम्मेदारी है कि हम टीका लगाएं। यह पूरी तरह से सुरक्षित है। अबतक लाभान्वित हो चुके लोगों में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं पाई गई है। किसी प्रकार की कोई भी समस्या होने कि स्थिति से निपटने के लिए भी स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से तैयार है। अतः सभी स्वास्थ्य कर्मी जिसका पंजीकरण टीकाकरण के लिए हो गया है उन्हें अपना टीका जरूर लगाना चाहिए।

प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को दिया जा रहा टीका :

कोविड-19 टीकाकरण के प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों एवं आईसीडीएस कर्मियों को टीका लगाया जा रहा है। इसके लिए पूर्व में ही सभी कर्मियों का पंजीकरण किया गया है। टीकाकरण के लिए पंजीकृत लाभार्थियों को उनके दिए गए मोबाइल नम्बर पर एसएमएस द्वारा उनके टीकाकरण स्थल, समय और दिन की जानकारी दी जाती है। लाभार्थी अपने तय स्थल पर कोविड-19 टीका ले सकते हैं। टीकाकरण के बाद लाभार्थी को 30 मिनट तक टीकाकरण स्थल पर ही रहकर अपने स्वास्थ्य की निगरानी करवानी है।
लाभार्थी के अनुपस्थित रहने पर दिया जाता है एक और मौका :

कटिहार के जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ डीएन झा ने बताया कि यदि कोई लाभार्थी अपने तय समय में टीका लेने में असमर्थ रहता है तो उन्हें एक अतिरिक्त अवसर टीका लगाने के लिए दिया जाता है। यदि अतिरिक्त अवसर पर भी लाभार्थी टीका लगवाने नहीं आए तो उन्हें टीका के लिए अगला अवसर नहीं दिया जाएगा। कोविड-19 के लिए उपलब्ध टीका का दो डोज 28 दिन के अंतराल पर लिया जाना है। दूसरे डोज के लिए पुनः स्वास्थ्य विभाग द्वारा लाभार्थी को एसएमएस द्वारा जानकारी दी जाती है।

अफवाहों पर न करें यकीन :

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ डीएन झा ने बताया कि टीकाकरण को लेकर आमजनों के बीच बहुत प्रकार की के अफवाहें देखी जा रही हैं है। टीकाकरण पूरी तरह सुरक्षित है। देश के वैज्ञानिकों द्वारा जांच और परीक्षण के बाद ही इसे टीकाकरण के लिए उपलब्ध कराई गई है। अतः किसी तरह की अफवाहों पर लोगों को यकीन नहीं करना चाहिए। स्वास्थ्य विभाग लोगों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए सदैव तत्पर है।

Next Post

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा 25 जनवरी को लाॅन्च किया जायेगा ई-ईपिक सुविधा

Fri Jan 22 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it भारत निर्वाचन आयोग द्वारा 25 जनवरी को लाॅन्च किया जायेगा ई-ईपिक सुविधा   […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links