पवन-प्रिंस प्रियदर्शी की जोड़ी ने भोजपुरी फिल्म संगीत जगत में रचा इतिहास

पवन-प्रिंस प्रियदर्शी की जोड़ी ने भोजपुरी फिल्म संगीत जगत में रचा इतिहास

सत्येन्द्र कुमार शर्मा, सारण।
पवन सिंह और प्रिंस प्रियदर्शी की सुपरहिट जोड़ी ने इतिहास रच दिया है।प्रिंस प्रियदर्शी मशरक प्रखंड के देवरिया निवासी मनोज सिंह के बड़े पुत्र है।
भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की एक ऐसे हीरो और गीतकार की सुपरहिट जोड़ी की हम चर्चा कर रहे हैं, जिन्होंने विगत 2 वर्षों में जितनी भी गाने दी हैं वे सभी गाने बॉक्स ऑफिस पर ब्लॉकबस्टर होने के साथ-साथ म्यूजिकली भी सुपरहिट रही हैं। जी हां हम बात कर रहे हैं भोजपुरी सिनेमा के पावरस्टार पवन सिंह और भोजपुरी गाने के गीतकार प्रिंस प्रियदर्शी की सुपरहिट जोड़ी की। अब तक उनकी सफल जोड़ी ने जितनी भी गाने दी हैं, सभी ने यूट्यूब पर सफलता का परचम लहराया है।प्रिंस प्रियदर्शी के लिखा हुआ जब भी पवन सिंह की कोई भी गाना आती है तो वह सफलता की गारंटी बन जाती है। उनकी यह जोड़ी एक बार फिर सुर्खियों में है। सुपरहिट भोजपुरी गाना नजरिया ना लागे के व्यूज यूट्यूब पर 38 मिलियन पार कर गया है। इस गाने का सिंगर पवन सिंह और चांदनी सिंह ने खूब धमाल मचाया है इस गाने के गीतकार
प्रिंस प्रियदर्शी व संगीतकार प्रियांशु सिंह हैं यह गाने पी.आर.ए फिल्म्स के बैनर तले बनी है वहीं सबसे बड़ी ऐतिहासिक रिकॉर्ड बनाने में सफल रहे पवन सिंह और चांदनी सिंह ने मिलकर काम किया है। इस गाने के गीतकार प्रिंस प्रियदर्शी व संगीतकार प्रियांशु सिंह हैं गीतकार प्रिंस प्रियदर्शी ने बताया कि पावर स्टार पवन सिंह और संगीतकार प्रियांशु सिंह की सुपरहिट जोड़ी में एक मिसाल कायम किया है। उम्मीद की जाती है कि आगे भी उनकी जोड़ी सुपरहिट गाने देती रहेगी पवन सिंह सहित उन सभी को तहेदिल से प्रिंस प्रियदर्शी ने धन्यवाद दिया है। बाकी और भी जिन लोगों ने बहुत तन मन से एकजुट होकर काम किया है, उन सभी टेक्नीशियन को भी धन्यवाद उन्होंने कहा है। साथ ही आगे भी एक साथ काम करने की बात कही है। पवन सिंह और प्रिंस प्रियदर्शी की जोड़ी में आगे भी भोजपुरी गाने आने वाली है, जिसका दर्शकों को बेसब्री से इंतजार है।

Next Post

महाराष्ट्र केरल इत्यादि राज्यों में फिर से संक्रमण के मामले बढ़ने शुरू मुख्य सचिव

Thu Jul 22 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it महाराष्ट्र केरल इत्यादि राज्यों में फिर से संक्रमण के मामले बढ़ने शुरू मुख्य […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links