पुलिस द्वारा बाइक खरीदने बेचने वाले गिरोह के अड्डे पर छापामारी कर बाइक बरामद

पुलिस द्वारा बाइक खरीदने बेचने वाले गिरोह के अड्डे पर छापामारी कर बाइक बरामद

सत्येन्द्र कुमार शर्मा, सारण:
पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर बाइक चोर गिरोह की गिरफ्तारी कर बाइक बरामद किया।
सारण पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार के अनुसार 19 जुलाई 2021 को भगवान बाजार थाना की पुलिस टीम द्वारा चोरी के 05 मोटर साईकिल बरामद किया गया।
चोरी की मोटर साइकिल खरीदने बेचने और चोरी करने में सनलिप्त अभियुक्तों को गिफतार किया किया गया।
पुलिस को सुचना मिली की चोरी का मोटरसाईकिल लेकर कोनिया माई मंदिर से एक लडका गुजरने वाला है तभी थानाध्यक्ष भगवान बाजार द्वारा तत्काल एक टीम का गठन कर वाहन चेकिग लगाया गया। वाहन चेकिंग के क्रम में रणवीर कुमार उर्फ अरूण यादय को चोरी की मोटर साईकिल के साथ पकडा गया। उसके स्वीकारोक्ति बयान के अनुसार श्रवन कुमार मॉझी उर्फ चिरई के घर से दो चोरी का मोटर साईकिल बरामद किया गया ।सांथ ही पुलिस द्वारा श्रवन कुमार मॉडी को गिरफ्तार किया गया तत्पश्चात अमन कुमार सिंह एवं दुर्गा सिंह दोनों पिता सुनील सिंह साकिन कटरा के घर से भी दो चोरी का मोटर साइकिल बरामद किया गया एवं उक्त दोना को गिरफतार किया गया बरामद चोरी के मोटर साईकिल में से एक मोटर साईकिल भगवान बाजार थाना काड सख्या 342/21 में चोरी हुई थी।

पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार द्वारा जप्त / बरामद मोटर साईकिल की विवरणी इस प्रकार बताया गया है।
1.एक काला रंग का हिरो पैशन प्रो मोटर साईकिल जिसका रजि० नं० BRO4AA – 4223
2 एक काला रंग का हिरो पैशन प्रो मोटर साईकिल जिसका रजि० न० BRO4K – 8901
2.एक काला रंग का हिरो पैशन प्रो मोटर साईकिल जिसका रजि० न० BRO4R – 0551
4.एक काला ब्लू रंग का हिरो पैशन प्रो मोटर साईकिल जिसका रजि० न० BRO4F – 5094
4.एक काला रंग का हिरो पैशन प्रो मोटर साईकिल बिना रजि०न० का शामिल हैं।

Next Post

पुलिस द्वारा बाइक खरीदने बेचने वाले गिरोह की गिरफ्तारी

Wed Jul 21 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it पुलिस द्वारा बाइक खरीदने बेचने वाले गिरोह की गिरफ्तारी सत्येन्द्र कुमार शर्मा, सारण: […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links