ठगी का शिकार हुई सैकड़ो महिलाओं ने समाहरणालय गेट पर किया प्रदर्शन खबर

ठगी का शिकार हुई सैकड़ो महिलाओं ने समाहरणालय गेट पर किया प्रदर्शन खबर

मोतिहारी।पु.च
मदर ट्रेसा फाउंडेशन ट्रस्ट बनाकर पूर्वी चंपारण शिवहर मुजफ्फरपुर बेतिया आदि जिलों में हजारों महिलाओं से समूह बनवा कर उनसे कुछ फाइनेंस कंपनियों के कर्मचारियों से मिलकर ₹30000 उन्हें लोन पास करवाया गया।वही ₹22500 अपने मदर टेरेसा फाउंडेशन ट्रस्ट में डलवाया गया। यह बोलकर कि अगले 24 महीनों तक आप को पोषाहार के रूप में ₹25 की राशि प्रतिमाह दी जाएगी। इस बात से प्रभावित होकर महिलाएं 20 सदस्यों का एक समूह बनाकर 30000 हजार रुपए की राशि लोन लेने के बाद उस राशि को मदर टेरेसा फाउंडेशन ट्रस्ट में जमा की। कुछ महीनों प्रति माह ₹25 रुपए राशि देने के बाद ट्रस्ट का संचालक निर्भय कुमार यादव भागने में सफल रहा। अब जितनी सारी ग्रुप की महिलाएं है दर दर भटकने को मजबूर है इस थाने से उस थाने। यहां से वहां भटकने को मजबूर है। लेकिन कोई इनकी मदद को आगे नहीं आ रहा ।आज बिहार नवयुवक सेना के संस्थापक अध्यक्ष सह पूर्व लोकसभा प्रत्यासी अनिकेत रंजन इन तमाम पीड़ित महिलाओं को सहारा देते हुए जिला मुख्यालय में प्रदर्शन का समर्थन किया साथ ही महिलाओं को न्याय दिलवाने का वादा किया।
और साथ ही जिला प्रशासन के साथ मिलकर अनिकेत रंजन ने महिलाओं को भरोसा दिलाया और बताया कि जल्द से जल्द एक जांच कमिटी बनाई जाएगी और जांच कमेटी जल्द से जल्द संचालक को गिरफ्तार करने का काम करेगी ।वही इंदु देवी ने बताया कि सभी महिलाएं लगभग 7 सौ ग्रुप जिसमे बी सदस्य टीम है सभी ने ₹22500 भुगतान करने का काम किया है और सभी का पैसा निर्भय कुमार यादव लेकर फरार हो चुका है। वही इंदु देवी ने कहा कि जिला प्रशासन जल्द से जल्द हमारी मदद करें एवं उस को गिरफ्तार करने का काम करें। वही ममता कुमारी राखी देवी मिना देवी रूबी देवी जानकी देवी सुनीता देवी रिंकू देवी स्वीटी देवी प्रतिभा देवी सुकून देवी कुमकुम देवी कुसुम देवी रानी देवी मालती देवी मालती देवी गीता देवी आदि के साथ हजारों महिलाएं उपस्थित थी ।

Next Post

टीकाकरण केंद्र पर उड़ाई जा रही है सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

Sat Jul 17 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it टीकाकरण केंद्र पर उड़ाई जा रही है सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां   वैक्सीन […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links