पंचायत के दौरान गोली मारकर सेना के एक जवान की हत्या, दूसरा जवान समेत दो अन्य घायल

पंचायत के दौरान गोली मारकर सेना के एक जवान की हत्या, दूसरा जवान समेत दो अन्य घायल

बबीता, एकमा(सारण)।
बुधवार, 21 जुलाई 2021।
थाना पुलिस ने दो अलग- अलग जगहों पर छापामारी कर करीब 70 लीटर देशी शराब के साथ चार लोगों को भी गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेज दिया। जानकारी के अनुसार नए थानाध्यक्ष देव कुमार तिवारी ने एकारी पुल के पास शराब ले जाते तीन लोगों को पकड़ा। वहीं परसागढ़ में शराब के साथ चौधरी नानक एक बड़े शराब कारोबारी को गिरफ्तार किया।
तिलकार गांव में मंगलवार को जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच पंचायती के दौरान हुई झड़प में गजेंद्र मिश्रा नामक करीब 34 वर्षीय सेना के एक जवान की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। वहीं गोली लगने से सेना का ही जवान व मृतक का भाई आनंद कुमार मिश्रा तथा भतीजा अभिनव कुमार मिश्रा गंभीर रुप से घायल हो गए। दोनो का ईलाज एकमा स्थित प्राइवेट पटना नर्सिंग होम में चल रहा है। गजेंद्र को भी एकमा नर्सिंग होम लाया गया था जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत बताया। घटना की सूचना पाकर एकमा पुलिस नर्सिंग होम पर पहुंच घायलों का बयान लेने में जुट गई। एसडीपीओ एमपी सिंह समेत एकमा पुलिस सर्किल के इंस्पेक्टर बालेश्वर राय, थानाध्यक्ष देव कुमार तिवारी पुलिस दल के साथ नर्सिंग होम पर पहुंच मामले की जांच- पड़ताल में जुट गए हैं। बताया जा रहा है कि मृत सेना का जवान अभी कुछ ही दिन पहले छुट्टी पर घर आए हुए थे। पट्टीदारों के बीच चल रहे जमीनी विवाद को लेकर दूसरे पक्ष द्वारा बाहर से शूटर बुलवाकर गोली चलवाने की बात कही जा रही है। हालांकि पुलिस ने इस बात से पूरी तरह इनकार करते हुए बताया कि विपक्षी पार्टी के ही कुछ लोग यहां से जाकर दूसरे जगह रहते हैं जो इस घटना में शामिल हैं। जवानों को गोली मारने के बाद गजेंद्र की एक लाइसेंसी पिस्टल को भी छीन ले जाने की बात कही जा रही है। फिलहाल अभी इस मामले में किसी के गिरफ्तारी की सूचना नहीं है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए छपरा भेज आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापामारी शुरु कर दी है। इसके बाद पुलिस घटनास्थल पर भी जाकर मामले की पूरी छानबीन किया व लोगों के बयान दर्ज किए। इस घटना से गांव में सनसनी फैल गयी है व कोई ग्रामीण इस बारे में कुछ बताने से कतरा रहा है। इसको लेकर गांव में सन्नाटा भी पसरा हुआ है।

जमीन का एक टुकड़ा को लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद पहले से चल रहा था। इधर कुछ दिनों से दोनो के बीच तनातनी चल रही थी। एक दिन पूर्व दोनो के बीच विवाद बढ़ने पर थाना पुलिस के भी आने की बात कही जा रही है। परंतु पुलिस की मौजूदगी में उस दिन दोनों पक्षों के बीच अभी कोई प्राथमिकी दर्ज नही करने व आपसी समझौता कर अगले दिन पंचायती में मामले को सुलझाने पर सहमति बनी थी। इसके तहत मंगलवार को दूसरे पक्ष के द्वारा पंचायती में बुलवाने पर गजेंद्र व उसके भाई- भतीजा आदि गए हुए थे। तभी उनपर विरोधी पक्ष के लोगों ने गोली चलाते हुए गजेंद्र की हत्या कर दी व अन्य दो को घायल कर दिया। घायलों के अनुसार उनलोगों को पंचायती में इस तरह की बात होने की कतई उम्मीद नहीं थी अन्यथा वे वहां पर जाते ही नही।
छुट्टी पर दोनो फौजी घर आए थे।
उक्त घटना में गोली लगने से मृत सेना के एक जवान गजेंद्र छुट्टी पर घर आए थे तभी जमीन का एक टुकड़े के लिए उनकी हत्या हो गयी। वहीं इस घटना में घायल सेना का दूसरा जवान आनंद भी छुट्टी पर गजेंद्र के बाद घर पर आया हुआ था। दोनों के ही रांची में पदस्थापित होने की बात कही जा रही है। गजेंद्र को सीधे सीना में गोली लगने की बात कही जा रही है जिससे उनकी तत्काल मौत हो गयी थी। शादीशुदा गजेंद्र की पत्नी किरण देवी व दो बच्चे एक 7 व दूसरा 5 साल के अनाथ हो गए है। उनकी मौत से परिवार में कोहराम मच गया है व परिजनों का रो- रोकर बुरा हाल हो रहा है। मृत गजेंद्र का परिवार अभी बाहर होने की बात बतायी जा रही है।

Next Post

पुलिस द्वारा बाइक खरीदने बेचने वाले गिरोह के अड्डे पर छापामारी कर बाइक बरामद

Wed Jul 21 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it पुलिस द्वारा बाइक खरीदने बेचने वाले गिरोह के अड्डे पर छापामारी कर बाइक […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links