महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी, मदन मोहन तिवारी के द्वारा कार्यालय का किया गया उद्घाटन

महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी, मदन मोहन तिवारी के द्वारा कार्यालय का किया गया उद्घाटन

शहाबुद्दीन अहमद

बेतिया  :  08- बेतिया- मझौलिया क्षेत्र के महागठबंधन के , कॉन्ग्रेस प्रत्याशी मदन मोहन तिवारी के द्वारा, मेन रोड मुहर्रम चौक के नजदीक, महावत टोली में, चुनाव के प्रचार प्रसार हेतु ,प्रथम कार्यालय का उद्घाटन फीता काटकर, बड़ी गर्मजोशी व धूमधाम से किया गया ,इस अवसर पर, महागठबंधन के सभी पार्टियों के पदाधिकारी गण, कार्यकर्ता व सदस्य उपस्थित थे, यह कार्यालय जिला राजद के नगर अध्यक्ष, अमजद खान के आवास पर कार्यकर्ताओं की उपस्थिति में, बड़ी गहमागहमी के बीच किया गया, इस अवसर पर जिला राजद के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष, सैयद शकील अहमद , जिला राजद के नगर अध्यक्ष, अमजद खान के अलावा, एजाज अहमद , गोलू, राजा,पप्पू के साथ साथ महागठबंधन के सभी पार्टियों के पदाधिकारी ,कार्यकर्ता व सदस्य उपस्थित थे, सभी लोगों ने एक स्वर होकर महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी 08- -बेतिया -मझौलिया क्षेत्र से विजयी बनाने का संकल्प लिया,
महागठबंधन का यह पहला कार्यालय खोला गया है, इस कार्यालय के माध्यम से लोगों के अंदर जागरूकता लाने, मतदाताओं को अपने और आकर्षित करने तथा महागठबंधन के पार्टी के कार्यकर्ताओं को मनोबल बढ़ाने और क्षेत्र में उत्पन्न होने समस्याओं का त्वरित निदान करने इस कार्यालय के माध्यम से किया जाएगा, महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी, मदन मोहन तिवारी ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि मेरी जीत निश्चित है, और सभी धर्मों, जातियों, पुरुष व महिला मतदाताओं का पूर्ण सहयोग मिल रहा है, क्षेत्र के सभी मतदाताओं ने एक स्वर होकर कहा कि महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में , मदन मोहन तिवारी की जीत शत प्रतिशत निश्चित है,इस तरह आप दूसरी बार जीतकर इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करेंगे।

Next Post

महिला से मांगी रंगदारी, जान मारने की धमकी

Mon Oct 26 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it महिला से मांगी रंगदारी, जान मारने की धमकी   शहाबुद्दीन अहमद बेतिया   :  […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links