महिला मोर्चा बना महिलाओं को टीकाकरण के लिए किया जागरूक

महिला मोर्चा बना महिलाओं को टीकाकरण के लिए किया जागरूक

मोतिहारी।पु.च
जागरूक महिलाएं समाज का अभिन्न अंग हैं। उनके सहयोग के बिना सभ्य, सुरक्षित समाज की कल्पना नहीं कि जा सकती है। शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्रों के साथ साथ परिवारिक दायित्वों के बखूबी निर्वाह में भी उनकी महत्वपूर्ण सहभागिता हो रही हैं। वर्तमान समय में समाज को कोविड 19 टीकाकरण द्वारा सुरक्षित रखने व जागरूकता के क्षेत्रों में भी आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, एएनएम, चिकित्सक व जनप्रतिनिधि के रूप में भी महिलाओं का सराहनीय योगदान है। मोतिहारी सदर प्रखंड की नीलिमा कुमारी आशा फैसिलिटेटर हैं जिन्होंने लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है।इनके प्रयासों के कारण इनके क्षेत्र गोड़वा, सिरसा कॉलोनी, पटखौलीया, के वार्ड संख्या 1,4,5,6 में इनके द्वारा कोविड 19 से बचाव के लिए लगातार जागरूकता अभियान चलाया गया। वे न सिर्फ़ लोगों को कोविड19 से बचाव की जानकारियां देती बल्कि अपने सार्थक प्रयास से सैकड़ों की संख्या में  टीकाकरण करवाया है।प्रतिशतता के करीब पंहुच गया है। लगभग 97%  लोगों का टीकाकरण हो चुका है। इनके प्रयास का ही परिणाम रहा है कि महिलाओं ने घर की दहलीज पार कर खुद के साथ साथ परिवार के लोगों ,सगे संबधियों का टीकाकरण कराया।नीलिमा का कहना है कि क्षेत्र के लोगों का कोविड 19 टीकाकरण इतना आसान भी नहीं था। इसके लिए नीलिमा महिलाओं के बीच घर घर महिला  मोर्चा की टीम बनाकर जागरूक करने जाती थी। उन्हें टीकाकरण के बारे में समझाती थी। जो लोग टीकाकरण को तैयार होते उन्हें तुरंत टीकाकरण केंद्र से सम्पर्क करके टीका  लगवाती । वहीँ कुछ लोग टीका के बारे में लोगों को भ्रमित कर चुके थे, उनको उदाहरणों द्वारा समझा बुझाकर टीका लगवाया।उन्हें बताया कि आस पड़ोस के लोग, जनप्रतिनिधि, डीलर, डॉक्टर और मेरे घर में भी सभी ने टीकाकरण कराया, पर किसी को कुछ नहीं हुआ। तब जाकर लोगों ने बात को समझते हुए टीकाकरण कराया। कई लोगों को घर जाकर आधार कार्ड द्वारा रजिस्ट्रेशन कराये। मोबाइल से फोन कर जागरूक किया। पढ़े लिखे लोगों को टीकाकरण के फायदों को बताया फिर उनसे भी टीकाकरण कराने व लोगों को जागरूक करने को कहा। इस प्रकार लोगों के टीम द्वारा भी हमारे क्षेत्रों में टीकाकरण हुआ। जहां भी लोगों ने टीका लगवाने से मना किया तो हमने ग्राम पंचायत के मुखिया, प्रधान, वार्ड सदस्य, डीलर, व बीडीओ मैम का सहयोग लिया, ये लोग भी ग्रामीण क्षेत्रों में घूमकर लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक किए, और इसका परिणाम काफी बेहतर देखने को यह मिला कि पहले हमलोगों की टीम जाकर कई बार समझाते तब लोग तैयार होते थे, अब लोग खुद ही टीका लगवाने को हमलोगों को कहते हैं। ग्रामीण इलाकों के टीकाकरण में सभी लोगों के साथ मेरी भी सहभागिता रही इसकी मुझे खुशी है।

Next Post

महात्मा गांधी केवि ऑनलाइन कराएगा फाइनल सत्रांत परीक्षाएं कार्यक्रम जारी

Thu Jul 22 , 2021
Share on Facebook Tweet it Pin it महात्मा गांधी केवि ऑनलाइन कराएगा फाइनल सत्रांत परीक्षाएं कार्यक्रम जारी मोतिहारी।पु.च जैसे जैसे […]

मुख्य संपादक: विकाश कुमार राय

“अपना परिचय देना, सिर्फ अपना नाम बताने तक सीमित नहीं रहता; ये अपनी बातों को शेयर करके और अक्सर फिजिकल कांटैक्ट के जरिये किसी नए इंसान के साथ जुड़ने का तरीका है। किसी अजनबी इंसान के सामने अपना परिचय देना काफी कठिन हो सकता है, क्योंकि आप उस वक़्त पर जो भी कुछ बोलते हैं, वो उस वक़्त की जरूरत पर निर्भर करता है।”

Quick Links